close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बाढ़ पीड़ितों से नीतीश कुमार की मुलाकात पर सियासत, ग्रीन कार्पेट पर हो रहा विवाद

सीएम नीतीश बाढ़ पीड़ितों का हाल जानने दरभंगा जिले के अलीनगर विधानसभा के मिर्जापुर गांव पहुंचे. जहां राजकीय उत्क्रमित मध्य विद्यालय में बने राहत शिविर में उनका स्वागत ग्रीन कार्पेट पर किया गया.

बाढ़ पीड़ितों से नीतीश कुमार की मुलाकात पर सियासत, ग्रीन कार्पेट पर हो रहा विवाद
नीतीश कुमार दरभंगा में बाढ़ पीड़ितों से मिलने गए थे.

पटनाः बाढ़ पीड़ितों का हाल जानने दरभंगा पहुंचे सीएम नीतीश कुमार के स्वागत में दरभंगा जिला प्रशासन ने मानवीय संवदेनाओं को तारतार कर दिया. एक ओर जहां पूरा जिला बाढ़ की चेपेट में फंसा है. लाखों लोग अनाज के दाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं. वहीं, सीएम नीतीश कुमार के स्वागत में ग्रीन कार्पेट बिछाया गया. बाढ़ पीड़ित इलाके में नीतीश कुमार के ग्रीन कार्पेट स्वागत पर कई तरह के सवाल खड़े होने लगे हैं.

बिहार में आई बाढ़ सीएम नीतीश कुमार के लिए मुसीबत बनी हुई है. जहां लाखों लोग राहत के नाम पर खानापूर्ति को लेकर सरकार पर गंभीर आरोप लगा रहे हैं. वहीं, बाढ़ पीड़ितों के बीच उनका हालचाल लेने पहुंचे सीएम नीतीश कुमार का स्वागत विवादों के घेरे में आ गया है.

दरअसल, उत्तर पूर्व बिहार में आयी बाढ़ का सीएम नीतीश कुमार ने तीन दिनों तक हवाई सर्वे किया. नीतीश कुमार बाढ़ की विभिषिका को जानना चाहते थे. लेकिन विपक्ष ने नीतीश कुमार के हवाई दौरे को लेकर खूब सवाल किए. आरजेडी कांग्रेस के नेताओं ने नीतीश कुमार को बाढ़ पीड़ितों के बीच जाकर उनका हालचाल लेने की सलाह दी. बाढ़ पीड़ितों के मदद के नाम पर उठते सवालों के बीच नीतीश कुमार ने दरभंगा सीतामढ़ी में बाढ़ पीड़ितों के बीच जाने का फैसला लिया.

सीएम नीतीश बाढ़ पीड़ितों का हाल जानने दरभंगा जिले के अलीनगर विधानसभा के मिर्जापुर गांव पहुंचे. जहां राजकीय उत्क्रमित मध्य विद्यालय में बने राहत शिविर में उनका स्वागत ग्रीन कार्पेट पर किया गया. जिला प्रशासन की ओर से इसके लिए विशेष व्यवस्था की गयी थी. सीएम नीतीश कुमार के साथ बिहार सरकार के खाद्य उपभोक्ता संरक्षण मंत्री मदन सहनी, आरजेडी विधायक अब्दुलबारी सिद्दिकी, मुख्य सचिव दीपक कुमार, सीएम के प्रधान सचिव चंचल कुमार, आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत भी पहुंचे थे. नीतीश कुमार को जिन जिन जगहों पर जाकर बाढ़ पीड़ितों से मिलना था वहां तक ग्रीन कार्पेट बिछे हुए थे ताकि सीएम को असुविधा न हो और उनके पैर गंदे न हो जाएं.

इधर सीएम के ग्रीन कार्पेट पर स्वागत को लेकर सियासत भी शुरु हो गयी है. राबडी देवी ने नीतीश कुमार के ऐसे स्वागत पर सवाल खडे किये हैं. राबडी देवी ने कहा है कि ये बिहार में ही हो सकता है. एक तरफ बाढ़ पीड़ित परेशान हैं और दूसरी तरफ सीएम का स्वागत कार्पेट पर हो रहा है. कांग्रेस नेता प्रेमचन्द्र मिश्रा ने भी सीएम के स्वागत पर सवाल खडे किये हैं. प्रेमचन्द्र मिश्रा ने कहा कि सीएम का ये दौरा राहत और बचाव के नाम पर महज दिखावा ही था. वहीं बीजेपी ने एमएलसी नवल किशोर यादव ने सीएम का बचाव किया है. नवल यादव ने कहा है कि सीएम का स्वागत क्या मीडिया और विपक्ष से पूछ कर किया जाता. क्या सीएम का स्वागत कीचड में किया जाता. विपक्ष क्या चाहता है कि सीएम जहां गये थे वहां उनका विरोध होता. बाढ़ पीड़ितों को उचित सहायता मुहैया करायी जा रही है. विपक्ष को बेचैन होने की जरुरत नहीं.

बाढ़ पीड़ितों को सीएम के दौरे से कितनी राहत मिलेगी ये कहना थोडी जल्दबाजी होगी. लेकिन इसमें कोई दो राय नहीं कि आपदा के वक्त दरभंगा में सीएम का जिस तरह से स्वागत हुआ वो सवालों के घेरे में आ गया है.