बोकारो गोलीकांड में कुल 5 आरोपी गिरफ्तार, हथियार बरामद

पुलिस ने इसके पास से एक देसी पिस्टल, एक देसी कट्टा, तीन जिंदा कारतूस, 3 खोखा, एक मिस फायर कारतूस के साथ एक पिट्ठू बैग भी बरामद किया है. 

बोकारो गोलीकांड में कुल 5 आरोपी गिरफ्तार, हथियार बरामद
बोकारो गोलीकांड में कुल 5 आरोपी गिरफ्तार. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

मृत्युंजय मिश्रा/बोकारो: झारखंड के बोकारो में 6 सितंबर को माराफारी थाना क्षेत्र में अज्ञात अपराधियों के द्वारा गुप्ता स्टोर नामक दुकान में गोली कांड को अंजाम देने के मामले में पुलिस ने एक और आरोपी को गिरफ्तार किया है. इस मामले में कुल 5 गिरफ्तारी हो चुकी है. पुलिस ने इसके पास से एक देसी पिस्टल, एक देसी कट्टा, तीन जिंदा कारतूस, 3 खोखा, एक मिस फायर कारतूस के साथ एक पिट्ठू बैग भी बरामद किया है. 

बता दें कि 6 सितंबर को माराफारी थाना क्षेत्र के ऋतुडीह में अपराध कर्मियों ने देर शाम को गोली चलाकर दुकान मालिक राजू गुप्ता की हत्या कर दी थी और उसके भाई सुरेश गुप्ता को गंभीर रूप से जख्मी कर दिया था. इस जघन्य घटना के उद्भेदन हेतु पुलिस अधीक्षक बोकारो तत्काल घटनास्थल पर पहुंचकर  घटना की जांच किए थे, जिसमें सीसीटीवी को खंगाला गया था और यह पाया गया था की गोली चलाने वाले अपराधी दोनों हाथ से गोली चलाने में माहिर है.

इसके बाद विशेष टीम का गठन कर कांड का उद्भेदन एवं संलिप्त अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए दिशा-निर्देश दिए थे. इसी क्रम में बोकारो पुलिस को सूचना मिली कि इस कांड में सम्मिलित अपराधी भानु मांझी दो दिन पहले जमशेदपुर पुलिस के हत्थे चढ़ चुका है. जिसका तार बोकारो के हत्याकांड से भी जुड़ा हुआ है.

इस सूचना पर संलिप्त अपराधी को पकड़ने हेतु विगत 10 दिनों से जमशेदपुर एवं सीमावर्ती जिलों में बोकारो पुलिस की विशेष टीम आवश्यक कार्रवाई करते हुए गिरफ्तारी सुनिश्चित करने के लिए लगातार छापेमारी कर रही थी. पुलिस अधीक्षक के अनुसार, बोकारो पुलिस इस कांड में वांछित अपराधी की गिरफ्तारी हेतु बीच-बीच में जमशेदपुर जा रही थी. 

इसी दरमियान सूचना मिली कि भानु मांझी जमशेदपुर के भी कई कांडों का वांछित अभियुक्त है और  जमशेदपुर पुलिस द्वारा 21 सितंबर को गिरफ्तार कर लिया गया है. जिसने अपना अपराध बयान में स्वीकार करते हुए बताया कि बोकारो के आजाद नगर का रहने वाला शातिर अपराधी शाहनवाज के द्वारा जमशेदपुर के शातिर अपराधी राजीव राम जो वर्तमान में रांची जेल में बंद है उससे संपर्क कर इस घटना को भानु मांझी, आकाश सिंह देव दोनों जमशेदपुर के कदमा का रहने वाला है तथा अमीर अंसारी से करवाया गया यानी तीनों ने मिलकर हत्या की घटना को अंजाम दिया.

इस घटना में सामिल अपराधी को बोकारो पुलिस और जमशेदपुर पुलिस पहले है गिरफ्तार की है और बाकी बचे एक अपराधी को बीते रात्रि बोकारो पुलिस द्वारा जमशेदपुर से घटना में शामिल अपराधी आकाश सिंह देव को गिरफ्तार किया गया. घटना के षड्यंत्रकारी सहित इस घटना को अंजाम देने वाले सभी अपराधी वर्तमान में जेल भेजा जा चुका हैं. 

बोकारो एसपी ने कहा कि लूट की घटना को अंजाम देने के लिए शातिर अपराधी उस रात कारोबारी के दुकान में पहुंचा था, जिसके बाद अपराधियों ने गोली चलाकर व्यवसाई के एक भाई की हत्या कर दी और दूसरे को घायल कर दिया. एसपी ने कहा की इस मामले में जीटी उद्योग यानी गुंडा टैक्स और रेलवे गुड सेड से जुड़े रंगदारी के मामले में भी पुलिस जांच कर रही है.