भागलपुर: पुलिस का अमानवीय चेहरा आया सामने, युवक को पीट-पीटकर मार डाला

बेरहम पुलिस वालों का जब इससे भी मन नहीं भरा तो उन्होंने आशुतोष को थाना में लाकर भी जमकर पीटा. इस दौरान आशुतोष लहूलुहान हो गया.

भागलपुर: पुलिस का अमानवीय चेहरा आया सामने, युवक को पीट-पीटकर मार डाला
पुलिस ने शख्स को पीट-पीट कर मार डाला. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

अजय/भागलपुर:  बिहार के भागलपुर में नवगछिया पुलिस का अमानवीय चेहरा सामने आया है. बिहपुर थाना पुलिस ने मामूली सी बात को लेकर एक युवक को पीट-पीट कर मार डाला. जानकारी के अनुसार, मृतक युवक बिहपुर थाना पुलिस से छोटी सी बात पर उलझ गया था, जिस कारण उसे इसकी कीमत अपनी जान देकर चुकानी पड़ी है.

दरअसल, मामला थाना क्षेत्र के मड़वा का है. यहां भागलपुर के बूढ़ानाथ निवासी आशुतोष कुमार की बिहपुर थानेदार और अन्य पुलिस कर्मियों ने बेरहमी से पिटाई कर उसकी जान ले ली गई. वहीं, इस मामले में मृतक आशुतोष के भाई सूरज पाठक ने बताया कि आशुतोष कुमार सॉफ्टवेयर इंजीनियर था. वह अपनी पत्नी और बच्ची के साथ नवरात्रि में पूजा-पाठ करने के लिए अपने गावं गया हुआ था.

इसी क्रम में बैरियर हटाने को लेकर एक स्थानीय युवक से उनका विवाद हो गया. देखते ही देखते वहां पुलिस पहुंच गई. लेकिन दोनों को समझाने के बजाय थानेदार और अन्य पुलिसकर्मियों ने आशुतोष को पीटना शुरू कर दिया. बेरहम पुलिस वालों का जब इससे भी मन नहीं भरा तो उन्होंने आशुतोष को थाना में लाकर भी जमकर पीटा. इस दौरान आशुतोष लहूलुहान हो गया.

इसके बाद गंभीर अवस्था में उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया. लेकिन इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई. वहीं, दूसरी ओर घटना से आक्रोशित मृतक के परिजनों और अन्य स्थानीय लोगों ने शव को मुख्य सड़क पर रखकर प्रदर्शन करना शुरू कर दिया. प्रदर्शन कर रहे परिजन आरोपी थानेदार पर सख्त कार्रवाई की मांग कर रहे हैं. 

इधर, मौके पर पहुंचे नवगछिया एसडीओ एवं नवगछिया एसडीपीओ लोगों को समझाने का प्रयास किया. नवगछिया एसडीपीओ दिलीप कुमार ने बताया कि बिहपुर थानाध्यक्ष पर 302 का मामला दर्ज कर लिया गया है.