झारखंड: Lockdown में पुलिसकर्मियों ने की किचन की शुरुआत, बताई ये बड़ी वजह

 पुलिस ने शनिवार को सामुदायिक पुलिसिंग के तहत किचन का शुभारंभ किया. इसका उदघाटन एसडीपीओ वरुण रजक ने भूखे व असहाय लोगों को भोजन कराकर किया. वहीं, यहां पर लॉकडाउन (Lockdown) में फंसे बाहर से आने-जाने वाले लोगों को ठहने की व्यवस्था भी कराई गई है.

झारखंड: Lockdown में पुलिसकर्मियों ने की किचन की शुरुआत, बताई ये बड़ी वजह
पुलिस ने शनिवार को सामुदायिक पुलिसिंग के तहत किचन का शुभारंभ किया.

चतरा: झारखंड के चतरा में सदर थाना पुलिस ने शनिवार को सामुदायिक पुलिसिंग के तहत किचन का शुभारंभ किया. इसका उदघाटन एसडीपीओ वरुण रजक ने भूखे व असहाय लोगों को भोजन कराकर किया. वहीं, यहां पर लॉकडाउन (Lockdown) में फंसे बाहर से आने-जाने वाले लोगों को ठहने की व्यवस्था भी कराई गई है.

इसके तहत 20 बेड सदर थाना के देखरेख में लगाया गया है. कीचेन और आश्रय व्यवस्था कराने का उद्देश्य कोरोना को लेकर सरकार द्वारा किये गए लॉकडाउन और इस दौरान अपने घर तक नही पहुंच पाने वाले लोगों को सुविधा मुहैया कराना है. इस मौके पर मेजर विकास कुमार, सदर थाना प्रभारी प्रमोद पांडेय, पीएसआई बीना कुमारी, विजय सिंह सहित अन्य उपस्थित रहे.

वहीं, एसडीपीओ चतरा वरुण रजक ने कहा कि कोरोना वायरस (Coronavirus) के रोकथाम के लिए अथवा बचाव के लिए जो लॉकडाउन किया गया है, इसी में बाहर से आने वाले लोगों को भोजन मुहैया कराने के लिए सामुदायिक किचन का शुभारंभ किया गया है. साथ ही सदर थाना सहित जिले के कई थानों में लोगों को ठहरने की भी व्यवस्था की गई है.

बता दें कि कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए केंद्र की नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार ने पूरे देश में 14 अप्रैल तक लॉकडाउन कर दिया है. इस दौरान, सरकार अपील कर रही है कि बीमारी से बचाव के लिए जो लोग जहां हैं वहीं रहें. ऐसे में कई जगहों पर गरीब-मजदूर लोगों का काम बंद होने से उन्हें भोजन की दिक्कत हो गई है.

वहीं, सरकार लगातार अपील कर रही है कि इस संकट की घड़ी में सभी को एकजुट कर निपटना है. ऐसे में जिससे जो मदद हो सके वो आगे आकर जरुरतमंदों के लिए करे.