झारखंड में कोरोना के 580 एक्टिव केस, 14 कोविड-19 संक्रमित लोगों की हुई मौत

झारखंड में कोरोना वायरस पॉजिटिव मरीजों की संख्या 2386 तक पहुंच गई है. इसमें से 1793 स्वस्थ्य होकर अपने घर जा चुके हैं. जबकि, 580 मामले अभी राज्य में एक्टिव हैं.  

झारखंड में कोरोना के 580 एक्टिव केस, 14 कोविड-19 संक्रमित लोगों की हुई मौत
कोरोना वायरस पॉजिटिव मरीजों की संख्या 2386 तक पहुंच गई है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

रांची: झारखंड में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमितों का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है. जानकारी के अनुसार, सोमवार को झारखंड में कोरोना वायरस पॉजिटिव मरीजों की संख्या 2386 तक पहुंच गई है. इसमें से 1793 स्वस्थ्य होकर अपने घर जा चुके हैं. जबकि, 580 मामले अभी राज्य में एक्टिव हैं.

वहीं, झारखंड में अब तक कुल 14 कोरोना संक्रमित लोगों की मौत हुई है. बताया जा रहा है कि, 14वां कोरोना संक्रमित मृतक महिला बगोदर के बेको की निवासी थी और वह इलाज के लिए राजधानी रांची स्थित रिम्स (RIMS) में भर्ती थी, जहां उसकी मौत हो गई.

महिला हृदय संबंधित गंभीर रोग का इलाज करवाने रिम्स आई थी और कोरोना जांच में उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई थी. बता दें कि,राज्य में कोरोना के बढ़ते मामले के मद्देनजर हेमंत सोरेन (Hemant Soren) के नेतृत्व वाली सरकार हरसंभव प्रयास कर रही है.

इसी के तहत झारखंड सरकार ने राज्य में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए लॉकडाउन (Lockdown) की अवधि 31 जुलाई तक बढ़ाने का फैसला किया है. इस दौरान सभी स्कूल, धर्मस्थल बंद रहेंगे. झारखंड के मुख्य सचिव सुखदेव सिंह ने शनिवार को लॉकडाउन बढ़ाने का एक सर्कुलर जारी किया.

सर्कुलर में कहा गया है, 'राज्य में सभी धर्मस्थल, स्कूल, होटल्स, स्पा और सैलून्स अगले आदेश तक बंद रहेंगे.' सभी जिला प्रशानों को यह सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए गए हैं कि, लॉकडाउन विस्तार के प्रावधान उनके इलाकों में गंभीरता के साथ और प्रभावी तरीके से लागू किए जाएं.

इसके साथ ही, आपात कार्यो को छोड़कर हर तरह की आवाजाही पर रात नौ बजे से लेकर सुबह पांच बजे तक पूर्ण प्रतिबंध रहेगा. सार्वजनिक स्थलों, कार्यस्थलों पर फेस मास्क पहनना और यात्रा के दौरान छह फुट की दूरी बनाए रखना अनिवार्य होगा.

सर्कुलर के अनुसार, सामाजिक, राजनीतिक, धार्मिक, खेल, मनोरंजन जैसे सिनेमा हाल सहित सभी गतिविधियां निलंबित रहेंगी. स्कूल, जिम, कोचिंग संस्थान, स्वीमिंग पूल, सभा कक्ष भी लॉकडाउन अवधि के दौरान बंद रहेंगे. शादी समारोह में मात्र 50 लोगों के शामिल होने की अनुमति होगी और लोगों को फेस मास्क पहनना होगा. सोशल डिस्टैंसिंग बनाए रखना होगा. अंतिम संस्कार में 20 से अधिक लोगों को शामिल होने की अनुमति नहीं होगी.