close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: भ्रष्ट जूनियर इंजीनियर का मकान हुआ सील, नोटिस के बाद भी नहीं खाली किया था घर

ग्रामीण विकास विभाग के इंजीनियर सुखदेव प्रसाद महतो की संपत्ति जब्त की गई है. विजलेंस कोर्ट के निर्देश पर पटना पुलिस प्रशासन ने सुखदेव प्रसाद महतो के पटना में एक करोड़ के आवास को सोमवार को सील कर दिया. 

बिहार: भ्रष्ट जूनियर इंजीनियर का मकान हुआ सील, नोटिस के बाद भी नहीं खाली किया था घर
पुलिस प्रशासन ने सुखदेव प्रसाद महतो के पटना में एक करोड़ के आवास को सोमवार को सील कर दिया.

पटना: भ्रष्टाचार के मामले को लेकर प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई की है. ग्रामीण विकास विभाग के इंजीनियर सुखदेव प्रसाद महतो की संपत्ति जब्त की गई है. विजलेंस कोर्ट के निर्देश पर पटना पुलिस प्रशासन ने सुखदेव प्रसाद महतो के पटना में एक करोड़ के आवास को सोमवार को सील कर दिया. 

भ्रष्टाचार के मामले में एक और भ्रष्ट अधिकारी पर बड़ी कार्रवाई की गयी है. ग्रामीण विकास विभाग के जूनियर इंजीनियर आय से अधिक संपत्ति के मामले में विजलेंस टीम के शिकार बन गये हैं. रिटायर जूनियर इंजीनियर की पटना की एक करोड की संपत्ति विजलेंस ने जब्त कर ली है. 

 

पटना जिला प्रसाशन और पुलिस की टीम ने सोमवार को जूनियर इंजीनियर के घर को सील कर दिया. इंजीनियर के घर को सील करने के लिए पटना जिला प्रशासन की टीम भारी पुलिस के साथ सोमवार दोपहर इंजीनियर के घर पहुंची. नोटिस के बावजूद इंजीनियर ने अपना घर खाली नहीं किया था इसलिए घर में जो भी सामान थे उसे सील कर लिया गया. जो किरायेदार घर में रह रहे थे उनसे तत्काल घर खाली करवा लिया गया.

इधर घटना को लेकर जब हमने रिटायर इंजीनियर सुखदेव प्रसाद से बात की तो उन्होंने बताया कि मामला 1983 का है. जब किसी उनके खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का मामला दर्ज करा दिया था. उनपर 4 लाख 40 हजार आमदनी से ज्यादा संपत्ति का आरोप लगा था. उसके एवज में उन्होंने आठ लाख अस्सी हजार का हिसाब विजलेंस कोर्ट को दे दिया था. 

लेकिन उनकी दलील न्यायालय में रद्द कर दी गई. मामले पर सुनवाई करते हुए भागलपुर के विशेष न्यायाधीश निगरानी दो शिवानंद मिश्रा ने रिटायर इंजीनियर की संपत्ति जब्त करने का आदेश जारी कर दिया. रिटायर इंजीनियर ने कहा है कि भागलपुर विजलेंस कोर्ट के फैसले के खिलाफ उन्होंने हाईकोर्ट में अपील कर रखी है. लेकिन उसके बावजूद उनका घर सील किया जा रहा है. 

इधर संपत्ति जब्ति के लिए पहुंचे एडिश्नल कलक्टर राजीव श्रीवास्तव ने बताया कि जिला प्रशासन को विजलेंस कोर्ट और जिलाधिकारी कोर्ट से संपत्ति जब्त करने का आदेश दिया गया है. हम लोग उसका पालन कर रहे हैं. हरेक कमरे को हमलोग सील करेंगे पूरा मकान भी सील किया जाएगा. आज के बाद से ये संपत्ति बिहार सरकार की संपत्ति मानी जाएगी.