गया: पार्षद के बेटे की दबंगई आई सामने, निगम कर्मचारी को बेरहमी से पीटा

पीड़ित नगर निगम कर्मचारी निशांत कुमार ने कहा कि अगर आरोपी के खिलाफ तुरंत कड़ा एक्शन नहीं लिया जाता है तो ये हड़ताल आगे भी जारी रहेगी.

गया: पार्षद के बेटे की दबंगई आई सामने, निगम कर्मचारी को बेरहमी से पीटा
नगर निगम कर्मचारी अनिश्तिकालीन हड़ताल पर चले गए हैं.

गया:  बिहार के गया में नगर निगम के वार्ड नंबर 36 की पार्षद रबिया खातून के बेटे नवाब के निगम कर्मी के साथ मारपीट का मामला सामने आया है. घटना से गुस्साएं निगम कर्मी अनिश्तिकालीन हड़ताल पर चले गए हैं. निगम कर्मियों की मांग है कि पार्षद के बेटे के खिलाफ जल्द सख्त कार्रवाई की जाए.

पीड़ित कर्मचारी निशांत कुमार नगर निगम के आवास योजना में कार्यत है. पीड़ित कर्मचारी का आरोप है कि शुक्रवार शाम 5 बजे वो डीआरडीए कार्यलय में उप नगर आयुक्त अय्यर साहेब के साथ बैठा हुआ था, तभी पार्षद का बेटा मोहम्मद मासूम वहां आया और अपना काम ना होने पर गुस्सा करने लगा. लेकिन निशांत ने उसे समझाने कि कोशिश की 1 महीनें के अंदर आपका सारा काम हो जाएगा. 

निशांत का कहना है कि उसने आरोपी को यह भी बताया कि उसे अभी यहां आए सिर्फ 1 महीनें ही हुआ है, लेकिन आरोपी ने एक ना सुनी और कार्यालय में जमकर हंगामा करते हुए गाली-गलौज करने लगा. तभी वहां उप नगर आयुक्त ने आरोपी को कार्यालय के बाहर कर दिया. जिसके बाद मो. मासूम ने अपने दोस्तों को फोन कर बुलाया और कार्यालय में पीड़ित के साथ मारपीट की.

पीड़ित की मांग है कि आरोपी के खिलाफ पुलिस कठोर कार्रवाई करे, जिससे इस तरह के मामलों में इजाफा ना हो और इस तरह की हरकत करने वालों में पुलिस और कानून का खौफ हो. पीड़ित ने कहा कि अगर आरोपी के खिलाफ तुरंत कड़ा एक्शन नहीं लिया जाता है तो ये हड़ताल आगे भी जारी रहेगी.

वहीं लोकल बॉडीज एंप्लाइज फेडरेशन के प्रांतीय अध्यक्ष शिववचन शर्मा का कहना है कि वार्ड काउंसलर की दबंगई बढ़ गई है. वार्ड काउंसलर निगम कर्मचारियों के साथ आए दिन मारपीट करते हैं. मात्र कुछ वार्ड काउंसलर ही है जो समाज हित की बात करते हैं और समाज हित के लिए काम करते हैं. निगम कर्मचारियों के साथ वार्ड काउंसलर इस तरह से पेश आते हैं जैसे मानों उन्होंने नगर निगम को अपने घर में रख लिया हो. साथ ही मांग की है कि मामले में वरीय अधिकारी हस्तक्षेप करें.

Preeti Negi, News Desk