रांची में अपराधियों-नक्सलियों में वर्चस्व की जंग जारी, कानून को दे रहे चुनौती

राजधानी में अपराधियों और नक्सलियों के बीच वर्चस्व की जंग जारी है. पिछले दिनों जहां मोहन यादव की हत्या वर्चस्व की जंग में हुई थी वही अब नगड़ी थाना क्षेत्र में मोहन उरांव नामक व्यक्ति की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई.

रांची में अपराधियों-नक्सलियों में वर्चस्व की जंग जारी, कानून को दे रहे चुनौती
मोहन उरांव नामक व्यक्ति की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई.

पटना: राजधानी में अपराधियों और नक्सलियों के बीच वर्चस्व की जंग जारी है. पिछले दिनों जहां मोहन यादव की हत्या वर्चस्व की जंग में हुई थी वही अब नगड़ी थाना क्षेत्र में मोहन उरांव नामक व्यक्ति की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई. इस मामले में पुलिस तहकीकात कर रही है, वहीं अपराधियों के धर पकड़ को लेकर छापेमारी भी की जा रही है.

राजधानी के नगड़ी थाना क्षेत्र में मोहन उरांव अपने साथी मांगा उरांव के साथ जा रहा था तभी बाइक सवार हथियार बंद अपराधियों ने गोली मार मोहन की हत्या कर दी. हालांकि मांगा वहां से बच निकलने में कामयाब हो गया. पूरी वारदात को अंजाम देने के पीछे अबतक पुलिसिया जांच में जो तथ्य सामने आए हैं उसके अनुसार पूरा मामला वर्चस्व से जुड़ा हुआ है. 

पुलिस को प्राथमिक जांच में ये पता चला है कि हेमंत गिरोह के द्वारा इस पूरी घटना को अंजाम दिया गया है. वहीं, मृतक के पास से एक बैग भी पुलिस ने बरामद किया है जिसमे 2 कट्टा और 10 कारतूस रखे थे. मोहन का पीएलएफआई से संबंध रहा है और अभी हाल ही में जेल से रिहा होकर बाहर आया था. वहीं हेमंत गिरोह का भी आपराधिक इतिहास रहा है इलाके में लेवी और अन्य आपराधिक वारदात को अंजाम देने का काम हेमंत गिरोह का रहा है.

घटना के बाद मृतक की पत्नी भी मौके पर पहुंची और साजिश होने का शक जाहिर किया. इस दौरान मृतक की पत्नी ने पुलिस को कई नाम बताएं जो इस घटना में शामिल हो सकते हैं. घटना के बाद आसपास के लोगों की भीड़ भी उमड़ पड़ी थी जिसके बाद पुलिस के वरीय अधिकारी भी मौके पर पहुंचे और जांच में जुट गए परिजनों के अनुसार मृतक मोहन उराव जमीन से जुड़ा कारोबार किया करता था.

बहरहाल पूरे मामले में पुलिस जांच कर रही है. लेकिन जिस तरह से हाल के दिनों अपराधियों द्वारा लगातार घटना को अंजाम दिया जा रहा है उससे तो यही पता चलता है कि रांची में अब अपराधी कानून व्यवस्था को चुनौती देने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं.