close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: मां से मिलने के लिए नदी पार कर रहा था युवक, मगरमच्छ ने कर दिया हमला, मौत

विवेक अपनी मां से मिलने के लिए हरहा नदी पार कर रहा था. उसकी मां नदी के दूसरी पार खेत में काम करने गई थी. तभी अचानक मगरमच्छ ने विवेक पर हमला कर दिया.

बिहार: मां से मिलने के लिए नदी पार कर रहा था युवक, मगरमच्छ ने कर दिया हमला, मौत
मगरमच्छ के हमले से युवक की मौत. (फाइल फोटो)

बगहा: बिहार के बगहा में गंडक नदी की सहायक नहरों और नालों में डेरा डाले मगरमच्छ (Crocodile) लोगों के जान-माल को नुकसान पहुंचा रहे हैं. ताजा मामला बगहा (Bagaha) के लौकरिया थाना क्षेत्र के यमुनापुर धिरौली हरहा नदी का है, जहां मगरमच्छ के हमले में किशोर की मौके पर ही तड़प-तड़पकर मौत हो गई. बताया जा रहा है कि जमुनापुर के हरहा नदी पार करने के क्रम में हुई इस घटना में जमुनापुर धिरौली में करीब 12 वर्षीय किशोर को मगरमच्छ ने हमला कर मार दिया.

स्थानीय लोगों ने युवक बचाने का प्रयास किया, लेकिन तब तक उसकी मौत हो गई थी. गांव के ही रमेश उरांव का बेटा विवेक कुमार के रूप में मृतक की पहचान हुई है. जानकारी के मुताबिक, विवेक अपनी मां से मिलने के लिए हरहा नदी पार कर रहा था. उसकी मां नदी के दूसरी पार खेत में काम करने गई थी. तभी अचानक मगरमच्छ ने विवेक पर हमला कर दिया.

बगल में हो रहे पुल निर्माण में लगे मजदूरों ने किशोर पर मगरमच्छ (Crocodile) को हमला करते हुए देखा तो बचाने के लिए दौड़े, लेकिन तबतक युवक बुरी तरह जख्मी हो चुका था और घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई. जेसीबी मशीन के सहारे बड़ी मुश्किल से विवेक के शव को ग्रामीणों ने बाहर निकाला. घटना की सूचना पर पहुंचे परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है. ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस घटनास्थल पर पहुंच चुकी है, जो कि आगे की कार्रवाई में जुटी है. वन विभाग की तरफ से अभी तक कोई भी मदद या मुआवजा नहीं मिलने से लोगों में नाराजगी है. 

बीते कुछ समय से पिपरासी, रतंवल, नरवल समेत अम्हट और बेलाह्वा समेत नौरंगिया में मगरमच्छ झुंड में डेरा डाले रिहायशी इलाकों में घुसकर तबाही मचा रहे हैं. स्थानीय ग्रामीण और प्रमुख ने कई बार इसकी सूचना भी दी, लेकिन देर से पहुंचने पर वन विभाग महज मगरमच्छों का रेस्क्यू कर फिर उन्हें गंडक नदी में छोड़कर अपनी जिम्मेवारी से बच रहा है.

बिहार के इकलौते वाल्मीकि नगर टाइगर रिजर्व के जंगल के डोभ और गंडक नदी से मगरमच्छ भारी संख्या में बाढ़ के पानी में कई गावों के नहरों और नालों में डेरा डाले हुए हैं, जो लगातार परेशानी का सबब बना हुआ है. वन विभाग संसाधनों का रोना रोते हुए मूकदर्शक बना हुआ है.