close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पटना: CS की हाई लेवल बैठक, अयोध्या निर्णय से पूर्व लॉ एंड आर्डर की समीक्षा की

अयोध्या निर्णय से पहले मुख्य सचिव सभी जिलों के जिलाधिकारी और एसएसपी के साथ विडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए मीटिंग की. इसमें डीजीपी, गृह सचिव समेत पुलिस के कई आलाधिकारी मौजूद रहे.

पटना: CS की हाई लेवल बैठक, अयोध्या निर्णय से पूर्व लॉ एंड आर्डर की समीक्षा की
अयोध्या निर्णय से पहले बिहार में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गई. (फाइल फोटो)

पटना: देश के सबसे लंबे समय तक चले मुकदमों में से एक अयोध्या राम मंदिर-बाबरी मस्जिद (Ayodhya Ram Temple-Babri Masjid) विवाद केस में फैसला आने में अब बहुत कम समय ही बचा है. इससे पहले बिहार में लॉ एंड आर्डर को लेकर राज्य के मुख्य सचिव दीपक कुमार मीटिंग कर रहे हैं. अयोध्या निर्णय से पहले मुख्य सचिव सभी जिलों के जिलाधिकारी और एसएसपी के साथ विडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए मीटिंग कर रहे हैं.

इस मीटिंग में बिहार के पुलिस महानिदेशक (DGP), गृह सचिव समेत पुलिस के कई आलाधिकारी मौजूद हैं. आपको बता दें कि अयोध्या राम मंदिर-बाबरी मस्जिद केस में निर्णय को लेकर गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को एडवाइजरी जारी कर सर्तक रहने का निर्देश दिया है. साथ ही केंद्र और राज्य की सुरक्षा व्यवस्था को कड़ी करने का फैसला किया है.

जानकारी के मुताबिक, भारत के मुख्य न्यायाधीश (CJI) रंजन गोगोई (Ranjan Gogoi) ने शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह और राज्य के मुख्य सचिव के साथ सुप्रीम कोर्ट में बैठक की और प्रदेश की सुरक्षा स्थिति के बारे में जानकारी ली.

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कैबिनेट की मीटिंग में सभी मंत्रियों से अयोध्या मसले पर किसी भी तरह की बयानबाजी से बचने को कहा है. साथ ही देशवासियों से शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील की है. वहीं, अयोध्या की भी सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है. साथ ही ड्रोन कैमरे से यहां कि निगरानी जा रही है. 

गौरतलब है कि वतर्मान भारत के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई 17 नवबंर को पद से रिटायर हो रहे हैं. इससे पहले इस बहुचर्चित केस पर फैसला आने की उम्मीद है.