दरभंगा: सांसद गोपल जी ठाकुर ने लोकसभा में रखी 'DD मिथिला' चैनल खोलने की मांग

मैथिली फिल्म अकादमी दरभंगा के संयोजक शशि मोहन भारद्वाज ने सांसद का आभार जताते हुए इसे मिथिला के लिए एक बड़ा दिन बताया.

दरभंगा: सांसद गोपल जी ठाकुर ने लोकसभा में रखी 'DD मिथिला' चैनल खोलने की मांग
गोपाल जी ठाकुर ने लोकसभा में रखी डीडी मिथिला खोलने की मांग. (फाइल फोटो)

दरभंगा: बिहार के दरभंगा से भारतीय जनता पार्टी (BJP) सांसद गोपाल जी ठाकुर ने लोकसभा में मैथिली भाषा के 24 घंटे के टीवी चैनल 'डीडी मिथिला' की शुरुआत करने की मांग की है. गोपाल जी ठाकुर ने सोमवार से शुरू हुए संसद के शीतकालीन सत्र के पहले दिन शून्यकाल में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के समक्ष यह मांग उठाई. पहली बार संसद के अंदर मैथिली भाषा में बोलकर उठी इस मांग से मिथिला में खुशी की लहर है.

मैथिली फिल्म अकादमी दरभंगा ने सांसद का आभार जताया है. लोकसभा में सांसद गोपाल जी ठाकुर (Gaopal Jee Thakur) ने कहा कि मैथिली संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल भाषा है. इसे पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने संवैधानिक मान्यता दिलाई थी. उन्होंने कहा कि इस भाषा के बोलने वाले देश भर में सात करोड़ लोग हैं. पीएम मोदी हमेशा से क्षेत्रीय कला-संस्कृति और भाषाओं के संरक्षण और संवर्द्धन का प्रयास करते रहे हैं. अगर मैथिली भाषा का 24 घंटे का 'डीडी मिथिला' चैनल शुरू होगा, तो मिथिला के लोग बेहद खुश होंगे.

मैथिली फिल्म अकादमी दरभंगा के संयोजक शशि मोहन भारद्वाज ने सांसद का आभार जताते हुए इसे मिथिला के लिए एक बड़ा दिन बताया. उन्होंने कहा कि आकाशवाणी और दूरदर्शन पर मैथिली को तरजीह दिए जाने की उनकी पुरानी मांग रही है. पिछले 20 अक्टूबर को अकादमी के एक शिष्टमंडल ने सांसद गोपाल जी ठाकुर से मिलकर 24 घंटे के 'डीडी मिथिला' चैनल के लिए एक ज्ञापन सौंपा था. किसी सांसद ने पहली बार सदन में यह मांग उठाई है. उन्हें उम्मीद है कि जल्द इस पर काम शुरू होगा और मिथिला के लोगों की इस मांग को भारत सरकार मूर्तरूप देगी.

वहीं, जिस तरह मिथला पेंटिग विश्वभर में नाम कमा रहा है और उससे रोजगार के अवसर मिले हैं, उसी तरह मैथिली भाषा में 24 घंटे के टीवी चैनल 'डीडी मिथिली' शुरू होने से मिथला के विभिन्न विधाओं से जुड़े कलाकारों को रोजगार और अपने कला को पर्दर्शित करने का मौका मिलेगा.