झारखंड में लगातार बढ़ रहे डेंगू के मरीज,बेड के अभाव में RIMS में फर्श पर हो रहा इलाज

रिम्स के आइसोलेशन वार्ड पूरी तरह से डेंगू मरीजों से भर गया है. यह 32 बेड का वार्ड है और यह पूरी तरह से भर गया है. वहीं, रांची के हिन्द पीढ़ी में भी डेंगू का प्रकोप दिख रहा है. 

झारखंड में लगातार बढ़ रहे डेंगू के मरीज,बेड के अभाव में RIMS में फर्श पर हो रहा इलाज
सबसे अधिक सिंहभूम और गुमला जिले के मरीज रिम्स में भर्ती हैं.

अभिषेक, रांची: झारखंड में इस समय डेंगू का प्रकोप दिखने लगा है इस वजह से रिम्स में इलाज के लिए मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. रिम्स में पिछले 4 से 5 दिनों में पूरे राज्य भर से मरीज भर्ती हैं और सबसे अधिक सिंहभूम और गुमला जिले के मरीज हैं. लेकिन अब तक इन मरीज का जांच रिपोर्ट नहीं मिल रहा है और ना ही किसी भी मरीज को किट दिया गया है.

रिम्स के आइसोलेशन वार्ड पूरी तरह से डेंगू मरीजों से भर गया है. यह 32 बेड का वार्ड है और यह पूरी तरह से भर गया है. वहीं, रांची के हिन्द पीढ़ी में भी डेंगू का प्रकोप दिख रहा है. सदर हॉस्पिटल के टीम लगातार अभियान चला रही है. साथ ही सभी वार्ड पार्षदों को जानकारी दी गई है कि कोई भी सूचना मिलती है तो वहां डॉक्टरों की टीम तुरंत संज्ञान लेगी और रिम्स में भी डॉक्टर लगातार डेंगू मरीज को देख कर उसका रिपोर्ट ले रहे हैं.

लेकिन बड़ा सवाल कई मरीज ऐसे हैं जो ठीक भी हुए है उनका जांच रिपोर्ट और किट नहीं मिला है जिसके कारण रिम्स में ही पड़े हैं. अब तक रिम्स में इस साल 100 से अधिक रिम्स मरीज आ चुके हैं.

पूरे राज्य में 400 से अधिक डेंगू मरीजों को चिन्हित किया गया है जिसमें पूर्वी सिंहभूम से 200 मरीज और रांची से 84 गढ़वा से 13, हजारीबाग से 13 और गिरिडीह से 8 कोडरमा, गुमला से 19, पलामू से 17, बोकारो से 14 और लातेहार से 41 मरीज चिन्हित किए गए हैं. 

रिम्स अधीक्षक विवेक कश्यप ने बताया कि डेंगू से ग्रसित मरीजों की संख्या बढ़ रही है. डेंगू वार्ड में मरीजों का इलाज किया जा रहा है. लेकिन बेड की समस्या होने के कारण फर्श पर ही मरीजों का इलाज किया जा रहा है. 

आइसोलेशन वार्ड में जिस तरह से भीड़ है उसमें झारखंड पुलिस सीआरपीएफ के जवानों के लिए रखा गया है लेकिन मरीज की भीड़ को देखते हुए अब उन्हें भी जैसे जैसे खाली हो रहा है बेड दिया जा रहा है. बहरहाल अगर जल्द जिला प्रसासन नहीं जगा तो मरीजों की संख्या में और इजाफा हो सकता है.