close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झारखंड : स्वास्थ्य विभाग को लेकर उपायुक्त ने का मैराथन बैठक, दिए कई निर्देश

उपायुक्त ने कहा कि आकांक्षी जिला के तहत स्वास्थ्य सेवाओं में जिन चीजों की आवश्यकता है उसे आपूर्ति करना है और स्वास्थ्य को लेकर एक बेहतर माहौल बन सके इसके लिए सभी को मिलकर काम करना है.

झारखंड : स्वास्थ्य विभाग को लेकर उपायुक्त ने का मैराथन बैठक, दिए कई निर्देश
स्वास्थ्य युविधाओं के लिए उपायुक्त की बैठक. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

साहिबगंज : झारखंड के साहिबगंज में स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर एक तरफ जहां राज्य सरकार पूरे एक्शन में दिख रही है वहीं, जिला प्रशासन भी हरकत में है. जिले की स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर उपायुक्त संदीप सिंह ने चार घंटे तक स्वास्थ्य विभाग के साथ बैठक की. इस दौरान उन्होंने कई महत्वपूर्ण निर्देश भी दिए. लक्ष्य रखा गया है कि जिला में स्वास्थ्य सुविधा समाज के अंतिम व्यक्ति तक पूर्ण रूप से मिले और स्वास्थ्य सुविधा के अभाव से किसी भी व्यक्ति का मौत नहीं हो.

यह सुनिश्चित करने के लिए उपायुक्त संदीप सिंह ने स्वास्थ्य विभाग के साथ एक लंबी बैठक की. बैठक के दौरान उपायुक्त ने स्पष्ट शब्दों में सभी स्वस्थ्य पदाधिकारियों और महिला एवं बाल विकास पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि जो भी कमियां वर्तमान में हैं, उसे अगले दो महीने में दूर कर लिया जाए.

आकांक्षी जिला के तहत स्वास्थ्य सेवाओं में जिन चीजों की आवश्यकता है उसे आपूर्ति करना है और स्वास्थ्य को लेकर एक बेहतर माहौल बन सके इसके लिए सभी को मिलकर काम करना है. उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारियों और चिकित्सकों को मानवीय संवेदनाओं के आधार पर काम करने का भी निर्देश दिया. उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा कि हर कार्य के लिए हर वस्तु उपलब्ध नहीं होती. इसके बावजूद यदि इच्छाशक्ति मजबूत हो तो कोई भी कार्य किया जा सकता है.

हालांकि किसी भी संसाधन की कमी को समाप्त करने और आवश्यक रूप से जिन वस्तुओं की कमी है उसे पूर्ति करने का निर्देश दिया गया. उपायुक्त ने साफ शब्दों में बैठक के दौरान कहा कि जिले में पैसे की कोई कमी नहीं है. स्वास्थ्य सेवा को बेहतर बनाने के लिए जिन चीजों की आवश्यकता है उसे लिया जा सकता है. लगे हाथ उन्होंने स्वास्थ्य कर्मियों की कमी के संबंध में भी कहा कि हाल में ही आचार संहिता से पूर्व साहिबगंज जिले में बहाली को लेकर सारी प्रक्रियाएं पूरी की गई थी. केवल रिजल्ट घोषित करना बाकी था.

उन्होंने कहा कि अगले एक या दो सप्ताह के अंदर परिणाम घोषित कर दिए जाएंगे और फिर लगभग स्वास्थ्य विभाग के विभिन्न कर्मचारियों की बहाली कर ली जाएगी. स्वास्थ्य सेवा में सुधार होगी और लोगों को एक अच्छी स्वास्थ्य सेवा मिल पाएगी जो कि मुख्यमंत्री रघुवर दास का सपना है.