''तुम्हारे पापा बीजेपी नेता हैं, इसलिए तुम्हें स्कूल में पढ़ने का अधिकार नहीं!''

दाखिले के बाद से ही बच्चा रोजाना स्कूल जा रहा था, लेकिन कुछ दिनों पहले प्रशासन ने बच्चे को स्कूल से निकाल दिया. 

''तुम्हारे पापा बीजेपी नेता हैं, इसलिए तुम्हें स्कूल में पढ़ने का अधिकार नहीं!''

धनबाद : झारखण्ड के धनबाद जिले में एक स्कूल ने छात्र को सिर्फ इसलिए निकाल दिया, क्योंकि वह बीजेपी नेता का बेटा था. पांडरपाला के रहने वाले सैय्यद महताब आलम ने आजाद नगर स्थित एक निजी स्कूल प्रबंधन पर आरोप लगाते हुए कहा है कि उन्होंने कुछ वक्त पहले अपने बेटे का दाखिला स्कूल की नर्सरी कक्षा में कराया था. 

दाखिले के बाद से ही बच्चा रोजाना स्कूल जा रहा था, लेकिन कुछ दिनों पहले प्रशासन ने बच्चे को स्कूल से निकाल दिया. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा है कि स्कूल प्रशासन को जब से इस बात की भनक लगी है कि वह बीजेपी के स्थानीय नेता हैं, तभी उन्होंने बच्चे को स्कूल से निकाल दिया. सैय्यद ने जिला शिक्षा अधीक्षक से स्कूल प्रबंधन पर कार्रवाई करने की मांग की है.

बीजेपी को बताया मुस्लिम विरोधी पार्टी-आलम
बच्चे के पिता महताब आलम का कहना है कि स्कूल ने बीजेपी को मुस्लिम विरोधी पार्टी कहा है. उन्होंने कहा कि, जिस स्कूल में उनके बेटे का दाखिला कराया गया था, वह एक मुस्लिम स्कूल है. अब स्कूल ने भाजपा को मुस्लिम विरोधी बताकर उनके बच्चे को पढ़ाने से इनकार किया है. बता दें कि महताब आलम बीजेपी प्रदेश अल्पसंख्यक कार्य समिति के सदस्य हैं.

वहीं, मामला तूल पकड़ने के बाद स्कूल की प्राचार्या नाजनीन खान ने आरोपों को ख़ारिज करते हुए कहा कि ऐसी कोई बात नहीं है. उन्होंने कहा कि बच्चे का नामांकन सेशन 2017-18 में किया गया था. 2018-19 सेशन में नामांकन के लिए कहा गया है, लेकिन उन्होंने नामांकन नहीं कराया है. मामले की जानकारी मिलने के बाद जिला शिक्षा अधीक्षक ने जांच के लिए टीम का गठन कर दी है. इसके साथ ही कहा है कि मामले की जांच कर उचित कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा, स्कूल में धर्म जाति दल को लेकर भेदभाव नहीं होता है अगर ऐसा होता है तो कड़ी करवाई की जाएगी.