प्रदर्शनी मैच खेलने पटना पहुंचे धनराज पिल्लई, खेलप्रेमियों के लिए यादगार बना मैच

 फाइनल मैच के पहले भारतीय हॉकी टीम के सरताज रहे धनराज पिल्लई की टीम और द्रोणाचार्य अवार्ड से सम्मानित भारतीय हॉकी टीम के पूर्व कोच हरेंद्र सिंह के टीम के बीच प्रदर्शनी मैच खेला गया. 

 प्रदर्शनी मैच खेलने पटना पहुंचे धनराज पिल्लई, खेलप्रेमियों के लिए यादगार बना मैच
धनराज पिल्लई को पटना में हॉकी खेलते देखना यहां के खेल प्रेमियों के लिए एक यादगार मैच रहा.

पटना: रविवार को पटना के बीएमपी ग्राउंड में द्वितीय आरके राय मेमोरियल हॉकी टूर्नामेंट का फाइनल मैच खेला गया, फाइनल मैच के पहले भारतीय हॉकी टीम के सरताज रहे धनराज पिल्लई की टीम और द्रोणाचार्य अवार्ड से सम्मानित भारतीय हॉकी टीम के पूर्व कोच हरेंद्र सिंह के टीम के बीच प्रदर्शनी मैच खेला गया. 

धनराज पिल्लई को पटना में हॉकी खेलते देखना यहां के खेल प्रेमियों के लिए एक यादगार मैच रहा. इस मैच में धनराज पिल्लई की टीम शुरू से बढ़त बनाए हुए थी लेकिन बाद के समय में कोच हरेंद्र सिंह की टीम ने मामला बराबरी पर रोकने में सफलता पाई और 6-6 से यह मैच बराबरी पर खत्म हुआ लेकिन यहां के खेल प्रेमियों ने इस मैच का पूरा लुफ्त उठाया. 

इस मैच के बाद आरके राय मेमोरियल हॉकी टूर्नामेंट का फाइनल मुकाबला आर्मी बॉयज दानापुर और आर के राय फाउंडेशन के बिच खेला गया जिसमे आर्मी बॉयज दानापुर की टीम ने 3-2 से जीता दर्ज कर टूर्नामेंट का ख़िताब अपने नाम किया. बिहार में हॉकी खेल को बढ़ावा देने के उद्देश्य से पिछले वर्ष से आर के राय मेमोरियल हॉकी टूर्नामेंट का आयोजन किया जा रहा है. 

द्रोणाचार्य पुरस्कार से सम्मानित हरेंद्र सिंह भर्ती हॉकी टीम के पूर्व कोच है और बिहार के छपरा जिला के रहने वाले हैं, इनके प्रशिक्षण में अंडर-17 हॉकी टीम को विश्व विजेता बनने का गौरब हासिल हुआ. हरेंद्र सिंह मौजूदा भारतीय हॉकी टीम के फिटनेस और प्रदर्शन से खुश है और उम्मीद जता रहे हैं कि टोकियो में भारतीय टीम पदक जितने में सफल होगी.