close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजधानी पटना में अब नहीं चलेगी डीजल ऑटो, सरकार ने लिया यह फैसला

पटना में डीजल चालित थ्री व्हीलर (ऑटो रिक्शा) को नया परमिट नहीं दिया जाएगा. डीजल से सीएनजी में थ्री व्हीलर को परिवर्तित कराने वालों को सरकार प्रोत्साहित करेगी.

राजधानी पटना में अब नहीं चलेगी डीजल ऑटो, सरकार ने लिया यह फैसला
राजधानी पटना में डीजल ऑटो को परमिट नहीं दिया जाएगा. (फाइल फोटो)

पटनाः राजधानी पटना में काफी संख्या में ऑटो चलते हैं, जिसमें डीजल ऑटो की संख्या काफी है. पटना में बढ़ते प्रदूषण को रोकने के लिए सरकार ने अब इस पर रोक लगाने का फैसला किया है. राजधानी पटना में काफी संख्या में अब ई-रिक्शा चलाए जा रहे हैं. वहीं, अब डीजल ऑटो को परमिट नहीं दिया जाएगा.

बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि ज्यादा धुआं उत्सर्जित करने वाली गाड़ियों पर कार्रवाई के साथ ही अब पटना में डीजल चालित थ्री व्हीलर (ऑटो रिक्शा) को नया परमिट नहीं दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि डीजल से सीएनजी में थ्री व्हीलर को परिवर्तित कराने वालों को सरकार प्रोत्साहित करेगी.

पटना में एक कार्यक्रम में भाग लेते हुए उपमुख्यमंत्री मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के घोषणा के अनुरूप दो अक्टूबर से सिंगल यूज प्लास्टिक मुक्त भारत बनाने की दिश में प्लास्टिक कैरी बैग के उपयोग पर सख्ती बरती जाएगी तथा थर्मोकोल से बने सामानों पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया जाएगा. 

मोदी ने कहा कि पटना और पूरे बिहार को वायु, जल व ध्वनि प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए अभियान चलाया जाएगा. उन्होंने कहा, "पहले चरण में सरकारी वाहन चालकों को प्रशिक्षण देकर हॉर्न का उपयोग कम से कम करने की हिदायत दी जाएगी. कर्कश हॉर्न के प्रयोग से बहरापन बढ़ता जा रहा है, इसलिए अनावश्यक हॉर्न बजाने व अपने वाहनों में म्युजिकल हॉर्न लगाने वालों पर कार्रवाई की जाएगी." 

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि ठंडा के मौसम में पटना की वायु गुणवत्ता को बेहतर बनाने का प्रयास किया जाएगा तथा इस