close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नक्सली मुठभेड़ के बाद मिले दस्तावेज में कई सफेदपोश लोगों के नाम: DIG मनु महाराज

डीआईजी मनु महाराज द्वारा मुंगेर प्रमंडलीय क्षेत्र अंतर्गत पड़ने वाले नक्सल प्रभावित जिला लखीसराय और जमुई के पहाड़ी जंगलों में कॉम्बिंग ऑप्रेशन चलाया जा रहा है.

नक्सली मुठभेड़ के बाद मिले दस्तावेज में कई सफेदपोश लोगों के नाम: DIG मनु महाराज
डीआईजी महाराज ने किए कई अहम खुलासे.

मुंगेर: रविवार को लखीसराय जिला के पहाड़ी जंगलों में नक्सलियों (Naxali) और कोबरा बटालियन के बीच घंटो चली मुठभेड़ (Encounter) के बाद भारी मात्रा में दस्तावेज, विभिन्न प्रकार के जिंदा कारतूस और नक्सलियों के समान बरामद किये जाने के मामले में डीआईजी मनु महाराज (Manu Maharaj) खुलासा किया है. उन्होंने कहा कि बरामद दस्तावेज में कई सफेदफोश का नाम सामने आया है, जो नक्सलियों की मदद करते हैं. उन्होंने कहा कि बरामद दस्तावेज के अनुसार, जमुई जिला के झाझा को सब जोनल बनाने के तैयारी में थे नक्सली. 

दरअसल, डीआईजी मनु महाराज द्वारा मुंगेर प्रमंडलीय क्षेत्र अंतर्गत पड़ने वाले नक्सल प्रभावित जिला लखीसराय और जमुई के पहाड़ी जंगलों में कॉम्बिंग ऑप्रेशन चलाया जा रहा है. रविवार को विशेष सूचना के आधार पर एक सयुंक्त नक्सल अभियान के तहत 207 कोबरा बटालियन, सीआरपीएफ, एसटीएफ, एसएसबी और जिला पुलिस द्वारा लखीसराय जिले के मानियारा जंगल  में कॉम्बिंग ऑपरेशन चलाया गया.

रविवार दोपहर को कोबरा बटालियन और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुआ. घंटों चली मुठभेड़ के बाद नक्सली भाग खड़े हुए. वहीं, पुलिस ने भारी मात्रा में स्तावेज, विभिन्न प्रकार के जिंदा कारतूस और नक्सलियों के समान बरामद की है. वहीं, एक नक्सली मनीष कुमार को हथियार के साथ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, जो कि लखीसराय जिला के सूर्यगढ़ा थाना क्षेत्र के वंशीपुर गांव का रहनेवाला है.

वहीं, डीआईजी मनु महाराज ने इस मुठभेड़ का खुलासा करते हुए बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि लखीसराय जिले के मानियारा जंगल मे इनामी नक्सली अरविंद यादव अपने दस्ते के साथ डेरा डाले हुए है. सूचना के बाद कोबरा के कमांडेंट के नेतृत्व में सीआरपीएफ, एसएसबी, एसटीएफ और कोबरा के द्वारा कॉम्बिंग ऑपेरशन चलाया गया. जैसे ही मानियारा के दुर्गम इलाके में पुलिस पहुंची कि नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी. इस मुठभेड़ का पुलिस के द्वारा मुहतोड़ जवाब दिया गया और नक्सली घबराकर वहां से भाग गए.

इस मुठभेड़ में कई नक्सली मारे गए और कई जख्मी भी हैं. उन्होंने बताया कि मारे गए नक्सलियों के शव को वो लोग साथ मे लेकर भागने में सफल रहे. पुलिस को घटनास्थल से कई जगह खून के धब्बे भी मिले हैं. डीआईजी ने कहा कि काफी संख्या में नक्सली इस दस्ते में शामिल थे और सभी नक्सली अत्याधुनिक हथियार से लैस थे. इस दस्ते में महिला नक्सली भी शामिल थी. उन्होंने कहा कि पुलिस को घटनास्थल से भारी मात्रा में विदेशी कारतूस, एके 47 मैग्जीन, दवाइयां, पिट्ठू बैग, मोबाइल, वायरलेस सेट और नक्सली साहित्य बरामद हुए हैं. इसमें नक्सलियों की सारी गतिविधि की जानकारी है.

उन्होंने कहा कि घटनास्थल से बरामद नक्सली अरविंद यादव की डायरी में काफी महत्वपूर्ण बातें लिखी गई हैं. बरामद डायरी में कई सफेदपोश लोगों के नाम सामने आए हैं, जो नक्सलियों के लिए काम करते हैं और बाहर सफेदपोश बनकर घूमते हैं. उन्होंने कहा दस्तावेज में नक्सलियों द्वारा नए संगठन बनाने का जिक्र किया गया है. उन्होंने कहा कि नक्सलियों के पास से मिले अहम दस्तावेज में सारी बातों का जिक्र किया गया है और कौन नक्सली किस पद पर तैनात है और उनका क्या काम है.