बिहार: दो कैटेगरी में बांटे गए प्रवासी मजदूर, अब इस तरह किए जाएंगे क्वारंटाइन

बिहार में प्रवासी मजदूरों के आने का सिलसिला लगातार जारी है. वहीं, कोरोना संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए आपदा प्रबंधन के प्रधान सचिव में महत्वपूर्ण लिया है. 

बिहार: दो कैटेगरी में बांटे गए प्रवासी मजदूर, अब इस तरह किए जाएंगे क्वारंटाइन
कोरोना संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए आपदा प्रबंधन के प्रधान सचिव में महत्वपूर्ण लिया है. (फाइल फोटो)

पटना: बिहार में प्रवासी मजदूरों के आने का सिलसिला लगातार जारी है. वहीं, कोरोना संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए आपदा प्रबंधन के प्रधान सचिव में महत्वपूर्ण लिया है. उन्होंने कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए कुछ अहम निर्देश भी दिए हैं.

डीएम-एसपी को लिखा पत्र
आपदा विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने डीएम और एसपी को लिखा है और निर्देशों को सख्ती से लागू करने को भी कहा है. उन्होंनेकोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण आपदा प्रबंधन विभाग ने प्रवासी मजदूरों को क्वारंटाइन सेंटर में रखने के लिए दो कैटेगरी बनाई है.

बनाई गई दो कैटेगरी
आपदा प्रबंधन ने प्रवासी मजदूरों को रखने के लिए दो कैटेगरी बनाई है. कैटेगरी क में सूरत, मुंबई, अहमदाबाद, पुणे, दिल्ली, गाजियाबाद, फरीदाबाद, गुरूग्राम, नोएडा, कोलकाता और बेंगलुरू से आनेवालों को रखा है.  वहीं, कैटेगरी ख में देश के दूसरे शहरों से आएनेवालों को रखा गया है. आपको बता दें कि बिहार में बड़ी संख्या में 3 मई के बाद से प्रवासी और मजदूर आ रहे हैं.

कोरोना मरीजों में हो रहा इजाफा
रैंडम सैंपल टेस्टिंग में कोरोना पॉजिटीव मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है. कोरोना से बढ़ते मामलों में आज पाया गया है कि पॉजिटीव मरीजों में उनकी संख्या अधिक है जो दिल्ली, मुंबई और गुजरात से आए हैं.  जो प्रवासी मजदूर कैटेगरी क में आएंगे उन्हें प्रखंड स्तर पर संचालित क्वारंटीन सेंटरों में 14 दिनों तक रखा जाएगा. उसके बाद अगर उनमें कोई कोरोना का लक्षण नहीं दिखता है तो अगले 7 दिनों तक वो होम क्वारंटाइन में रहेंगे.

प्रखंड मुख्यालय से होगा संचालन
प्रखंड स्तर पर चलने वाले क्वारंटीन सेंटरों का संचालन प्रखंड मुख्यालय में होगा. जगह कम होने पर प्रखंड मुख्यालयों से सटे पंचायत के उपयुक्त भवनों में रखा जाएगा. साथ ही अगर किसी में कोरोना के लक्षण पाए जाते हैं तो स्वास्थ्य विभाग के नियमों के मुताबिक अगली कार्रवाई होगी.

ख कैटेगरी के मजदूर को होम क्वारंटाइन
जो मजदूर कैटेगरी ख में हैं, उन्हें तब सीधे होम क्वारंटाइन में रखा जाएगा जब उनमें कोरोना का कोई लक्षण नहीं हो. अगर कैटेगरी ख में आने वाले कोई मजदूर कैटेगरी क में संपर्क में आए होंगे तो वैसे मजदूरों को भी क्वारंटीन में रखा जाएगा. कैटेगरी ख के मजदूरों को होम क्वारंटाइन में रहने से संबंधित हलफनामा भरकर देना होगा.

स्वास्थ्य जांच के लिए अलग से आदेश जारी
होम क्वारंटीन में रहने वाले प्रवासी मजदूरों के लिए घर-घर टीम भेज कर उनकी स्वास्थ्य जांच के लिए अलग से आदेश जारी किया जाएगा. आपदा प्रबंधन विभाग ने देश के अलग-अलग राज्यों से आ रहे मजदूरों और प्रवासियों को लेकर फैसला लिया है . आपदा प्रबंधन विभाग ने जिला पदाधिकारियों को मजदूरों को दो कैटेगरी में बांटने का निर्देश दिया है.