आपदा प्रबंधन को लेकर मुंगेर में हुई बैठक, राजमिस्त्रियों को दिया जाएगा खास प्रशिक्षण

18 से 24 जनवरी के बीच प्रखंड स्तर पर अनुभवी राजमिस्त्रियों को भूकंपरोधी भवन निर्माण तकनीक की जानकारी तथा प्रशिक्षण देने के लिए सात दिवसीय गैर आवासीय प्रशिक्षण दिया जाएगा

आपदा प्रबंधन को लेकर मुंगेर में हुई बैठक, राजमिस्त्रियों को दिया जाएगा खास प्रशिक्षण
आपद प्रबंधन की बैठक का हुआ आयोजन. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

मुंगेर: बिहार के मुंगेर में समाहरणालय परिसर स्थित आपदा प्रबंधन कोषांग के कक्ष में बीएसडीएमए के ओएसडी शशि भूषण तिवारी ने जिले के सभी सीओ के साथ बैठक की. इस मौके पर उन्होंने कहा कि राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के द्वारा आगामी 18 से 24 जनवरी के बीच प्रखंड स्तर पर अनुभवी राजमिस्त्रियों को भूकंपरोधी भवन निर्माण तकनीक की जानकारी तथा प्रशिक्षण देने के लिए सात दिवसीय गैर आवासीय प्रशिक्षण दिया जाएगा. 

उन्होंने कहा कि इसको लेकर हर प्रखंड से 30 अनुभवी राजमिस्त्री की सूची तैयार कर लें. जिन्हें भूकंपरोधी निर्माण एवं रेट्रोफिटिंग तकनीक का प्रशिक्षण दिया जाएगा. यह प्रशिक्षण प्रखंड मुख्यालय पर आयोजित किया जाएगा.

इसमें आपदा सुरक्षित भवन निर्माण तकनीक के साथ ही मानक निर्माण तकनीक की जानकारी दी जाएगी, ताकि समाज में मजबूत भवन संरचना निर्माण का प्रचलन विकसित हो सके. इस प्रशिक्षण के लिए चयनित राजमिस्त्री को प्रतिदिन आवागमन एवं क्षतिपूर्ति के रुप में 700 रुपए का चेक दिया जाएगा.

इस प्रकार प्रशिक्षण में शामिल होने वाले एक राजमिस्त्री को 4900 रुपए का चेक तथा प्रशिक्षण का एक प्रमाणपत्र दिया जाएगा. इस मौके पर प्राधिकरण के वरीय सलाहकार वरुण कांत मिश्रा, डीएम राजेश मीणा तथा आपदा प्रबंधन के प्रभारी रतन सहित सभी सीओ मौजूद थे.