झारखंड: कांग्रेस की कलह खुलकर आई सामने! नेताओं पर हो सकती है कार्रवाई

इरफान अंसारी हमेशा फ्रंट फुट पर खेलता है. जो हमारे सीनियर नेता और मंत्री हैं उनको ध्यान रखना चाहिए कि, सूबे में 26 फीसदी अगर ट्राइबल है तो 18 प्रतिशत अंसारी हैं.

झारखंड: कांग्रेस की कलह खुलकर आई सामने! नेताओं पर हो सकती है कार्रवाई
झारखंड: कांग्रेस की कलह खुलकर आई सामने! नेताओं पर हो सकती है कार्रवाई.

रांची: झारखंड कांग्रेस के तीन विधायक दिल्ली से लौटे तो, कांग्रेस का अंतर्कलह सतह पर आ गया. दिल्ली जाने वाले विधायक इरफान अंसारी ने कहा कि, सूबे में कांग्रेस को मजबूत करने में इरफान के योगदान को कोई नकार नहीं सकता है. इरफान अंसारी हमेशा फ्रंट फुट पर खेलता है. 

जो हमारे सीनियर नेता और मंत्री हैं उनको ध्यान रखना चाहिए कि, सूबे में 26 फीसदी अगर ट्राइबल है तो 18 प्रतिशत अंसारी हैं. हम पार्टी का अहित नहीं देख सकते हैं. अगर लोगों को लगता है कि, इरफान गलत है तो गलत ही सही.

वहीं, दिल्ली जाने वाले विधायक राजेश कच्छप ने कहा कि, कोरोना काल मे दिल्ली से शीर्ष नेतृत्व यहां नहीं आ रहे थे. शीर्ष नेतृत्व से मिलने दिल्ली गए थे. संगठन को ज्यादा मजबूत कैसे कर सकते हैं, सरकार का विश्वास जनता में कैसे कायम हो, बोर्ड निगम के बंटवारे का मामला हो, सरकार में खाली एक मंत्री पद को भरने पर बात हुई है.

इधर, कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी जो पार्टी के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष हैं, वो एक व्यक्ति एक पद की मांग भी कर रहे हैं. ऐसे में इन नेताओं के मीडिया में बयानबाजी से प्रदेश नेतृत्व नाराज हैं. इसकी शिकायत केंद्रीय नेतृत्व से भी की गई है. सूत्रों की मानें तो, 7 अगस्त को झारखंड प्रभारी आरपीएन सिंग रांची आने वाले हैं.

वहीं, विधायकों की नाराजगी और बयानबाजी पर कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने कहा कि, सभी लोगों को अपनी बात कहने की आजादी है. जब इन लोगों ने अपनी बात बड़े नेताओं को बता दी है, तो फिर उन्हें इन बातों को लेकर मीडिया में नहीं जाना चाहिए था.

मीडिया के जरिये कांग्रेस नेतृत्व के सामने बात रखेगें तो, अनुशासनहीनता के दायरे में आएगा. साथ ही कहा कि, इस प्रकरण को लेकर प्रदेश अध्यक्ष काफी गम्भीर है. आलाकमान इन विषयों पर नजर बनाए हुए है.

कांग्रेस प्रवक्ता शमशेर आलम ने साफ-साफ कहा कि, हमारे झारखंड प्रभारी ने स्पष्ट कहा है कि चाहे विधायक हों, नेता हों या फिर कार्यकर्ता, अगर अनुशासनहीनता करता है तो, पार्टी कार्रवाई के लिए तैयार है.