close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: डॉक्टरों की बड़ी लापरवाही, ऑपरेशन के दौरान महिला के पेट में छोड़ा रूई-बैंडेज

परिवार नियोजन कराने आयी एक महिला के ऑपरेशन के दौरान उसके पेट में ही बैंडेज और रुई का टुकड़ा छोड़ दिया गया जिसे तेरह दिन बाद फिर से ऑपरेशन कर बाहर निकाला गया.

बिहार: डॉक्टरों की बड़ी लापरवाही, ऑपरेशन के दौरान महिला के पेट में छोड़ा रूई-बैंडेज
ऑपरेशन के जरिये महिला के पेट से बैंडेज और रुई का बड़ा टुकड़ा निकाला गया.

पटना: बिहार में स्वास्थ्य महकमे के अजब-गजब कारनामों के किस्से नए नहीं है. नया मामला सहरसा में सामने आया. जहां परिवार नियोजन कराने आयी एक महिला के ऑपरेशन के दौरान उसके पेट में ही बैंडेज और रुई का टुकड़ा छोड़ दिया गया जिसे तेरह दिन बाद फिर से ऑपरेशन कर बाहर निकाला गया.

जिले के सत्तर कटैया प्रखंड के रकिया गांव की वंदना कुमारी 17 सितंबर को पंचगछिया पीएचसी में भर्ती हुई. परिवार नियोजन के तहत डॉक्टरों ने महिला का ऑपरेशन किया. ऑपरेशन के दूसरे दिन से ही उसकी तबीयत बिगड़ने लगी. उल्टी, बुखार की शिकायत होने लगी.

 

8 दिन बाद जब टांका काटा गया तो पेट में इंफेक्शन हो गया. मरीज की हालात बिगड़ते देख आनन-फानन में परिजन उसे लेकर निजी अस्पताल पहुंचे. जहां महिला का दोबारा ऑपरेशन किया गया. इस ऑपरेशन के जरिये महिला के पेट से बैंडेज और रुई का बड़ा टुकड़ा निकाला गया. अब महिला के परिजनों ने पंचगछिया पीएचसी के डॉक्टर्स पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कड़ी कार्रवाई की मांग की है.

वहीं, सिविल सर्जन डॉ. ललन प्रसाद सिंह का कहना है की मामला उनकी संज्ञान में आया है और मामले की जांच करायी जा रही है, जिसके बाद दोषी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

फिलहाल सिविल सर्जन जांच के बाद कार्रवाई की बात कह रहे हैं, लेकिन इस तरह के मामले बिहार के स्वास्थ्य विभाग की कलई खोलने के लिए काफी है. बिहार का स्वास्थ्य विभाग अक्सर सुधार के दावे तो करता रहता है लेकिन यह सभी दावे फेल नजर आते हैं. इस मामले ने भी सरकारी अस्पतालों में मरीजों के इलाज को लेकर कई सवाल खड़े कर दिए हैं.
Leena Singh, News Desk