बिहार: NMCH में मास्क और सैनिटाइजर तक की व्यवस्था नहीं, इलाज से डर रहे डॉक्टर-नर्स

इसको लेकर डॉक्टर और नर्सों ने अस्पताल अधीक्षक कार्यालय का घेराव कर हंगामा किया. वहीं आक्रोशित डॉक्टर और नर्स आइसोलेशन वार्ड में जाने से परहेज कर रहे हैं और इसको लेकर अस्पताल परिसर में ही टेबल लगा कर डॉक्टर अपनी ड्यूटी कर रहे हैं. 

बिहार: NMCH में मास्क और सैनिटाइजर तक की व्यवस्था नहीं, इलाज से डर रहे डॉक्टर-नर्स
NMCH में मास्क और सैनिटाइजर तक की व्यवस्था नहीं, इलाज से डर रहे डॉक्टर-नर्स. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पटना: बिहार में लगातार कोरोना से पीड़ित मरीजों की संख्या बढ़ने से पटना का सबसे बड़ा दूसरा अस्पताल NMCH परेशानी में हैं. एनएमसीएच के प्रधान सचिव ने इसे कोरोना अस्पताल घोषित कर दिया है, लेकिन इसके बावजूद भी डॉक्टरों के लिए समुचित व्यवस्था नहीं है.

दरअसल, NMCH में जो भी डॉक्टर हैं उनके लिए अस्पताल में जरूरी सुविधाएं जैसे कि सैनिटाइजेशन, मास्क, ग्लव्स व पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट और किट की व्यवस्था तक नहीं है. 

इसको लेकर डॉक्टर और नर्सों ने अस्पताल अधीक्षक कार्यालय का घेराव कर हंगामा किया. वहीं आक्रोशित डॉक्टर और नर्स आइसोलेशन वार्ड में जाने से परहेज कर रहे हैं और इसको लेकर अस्पताल परिसर में ही टेबल लगा कर डॉक्टर अपनी ड्यूटी कर रहे हैं. 

वही डॉक्टर रजनी कुमारी का कहना था कि NMCH अस्पताल पटना के सबसे बड़ा दूसरा अस्पताल है और कोरोना से पीड़ित मरीजों की लगातार संख्या बढ़ रही है. लेकिन स्वास्थ्य विभाग की ओर से डॉक्टरो की सुरक्षा मानकों पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है. इसी में मरीज़ो का इलाज किया जा रहा है.