[VIDEO] JDU नेता के रिश्तेदार चिकित्सक की मौत से गुस्साए डॉक्टर, किया कुछ ऐसा...

डॉक्टरों ने अल्टीमेटम दिया है कि 24 घंटे के भीतर अगर अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं हुई तो यह हड़ताल आगे भी उनकी जारी रहेगी. साथ ही डॉक्टरों ने ओपीडी और इमरजेंसी सेवा को भी ठप्प करने का ऐलान कर दिया है

[VIDEO] JDU नेता के रिश्तेदार चिकित्सक की मौत से गुस्साए डॉक्टर, किया कुछ ऐसा...
डाक्टरों ने पीड़ित परिवार को 5 करोड़ मुआवजा देने की भी मांग की है.

नालंदा: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के गृह जिले नालंदा में दिनदहाड़े डॉक्टर प्रियरंजन की हुई हत्या ने एक बार फिर से राज्य की कानून-व्यवस्था पर सवाल खड़ा कर दिया है. वहीं, हत्या के विरोध में बिहारशरीफ अस्पताल चौक को जाम करते हुए डॉक्टर सड़कों पर उतर आए हैं. इतना ही नहीं डॉक्टरों ने हड़ताल की भी घोषणा कर दी है.

डॉक्टरों ने अल्टीमेटम दिया है कि 24 घंटे के भीतर अगर अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं हुई तो यह हड़ताल आगे भी उनकी जारी रहेगी. साथ ही डॉक्टरों ने ओपीडी और इमरजेंसी सेवा को भी ठप्प करने का ऐलान कर दिया है. डाक्टरों ने आरोपी को गिरफ्तार करने के साथ-साथ पीड़ित परिवार को 5 करोड़ मुआवजा देने की भी मांग की है.

उनका कहना है कि उन्हें सरेआम एक नहीं बल्कि 6 छह गोलियां मारी गई है. इससे ऐसा प्रतीत होता है कि हम लोग नालंदा में नहीं रहकर ऐसे उग्रवाद प्रभावित जिले में हैं, जो सीरिया या लेबनान की तरह है. जानकारी के मुताबिक, मृतक जेडीयू के पूर्व विधायक इंजिनियर सुनील कुमार के करीबी रिस्तेदार बताया जाता रहा है.

दरअसल नालंदा जिले के रहुई थाना इलाके के सैदी मोड़ के समीप ड्यूटी पर जा रहे डॉ प्रियरंजन कुमार प्रियदर्शी को बेखौफ अपराधियों ने दिनदहाड़े गोली मार दी. जिससे डॉक्टर की मौके पर ही मौत हो गई. जानकारी के अनुसार, नूरसराय थाना इलाके के नोसरा गांव निवासी डॉ प्रियरंजन कुमार प्रियदर्शी अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र गोनावां में पदस्थापित थे. वो बाइक से अपनी ड्यूटी पर जा रहे थे. इसी बीच अपराधियों ने उन्हें गोलियों से छलनी कर मौत के घाट उतार दिया.