close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार की बेटी ने लहराया परचम, मिसेज टूरिज्म वर्ल्डवाइड कांटेस्ट किया अपने नाम

डॉ. तारा श्वेता आर्या ने फिलीपींस में आयोजित 15 दिवसीय मिसेज टूरिज्म वर्ल्डवाइड कांटेस्ट का खिताब अपने नाम कर लिया. ऐसा पहली बार हुआ है जब भारत के किसी प्रतिभागी को एक साथ इतना सम्मान प्राप्त हुआ है.

बिहार की बेटी ने लहराया परचम, मिसेज टूरिज्म वर्ल्डवाइड कांटेस्ट किया अपने नाम
डॉ तारा श्वेता आर्या को मिला मिसेज टूरिज्म वर्ल्डवाइड का खिताब.

किशनगंज: बिहार की बेटी डॉ तारा श्वेता आर्या ने देश का नाम रोशन किया है. फिलीपींस में आयोजित मिसेज टूरिज्म वर्ल्डवाइड कांटेस्ट में तीन-तीन अवार्ड को अपने नाम किया. उन्हें मिसेज टूरिज्म वर्ल्डवाइड, मिसेज टूरिज्म ब्रांड एम्बेसडर और बेस्ट नेशनल कॉस्टयूम के अवार्ड से भी नवाजा गया. किशनगंज पहुंचते ही स्थानीय लोगों ने बुके और माला पहनाकर उनका स्वागत किया.

बताते चलें कि डॉ. तारा श्वेता आर्या ने फिलीपींस में आयोजित 15 दिवसीय मिसेज टूरिज्म वर्ल्डवाइड कांटेस्ट का खिताब अपने नाम कर लिया. ऐसा पहली बार हुआ है जब भारत के किसी प्रतिभागी को एक साथ इतना सम्मान प्राप्त हुआ है.

फिलीपींस में आयोजित प्रतियोगिता के कई चरण थे. इसमें दर्जनों देश की सुंदरियां भाग ली थी. इनमे टैलेंट कांटेस्ट, पब्लिक स्पीकिंग, पर्सनल इंटरव्यू, फोरम और नेशनल कॉस्ट्यूम कांटेस्ट के आधार पर विजेता को चुनना था. डॉ तारा ने सभी चरणों को बारी-बारी से पार करते हुए ख़िताब अपने नाम किया. उन्होंने बिहार के साथ-साथ देश का परचम भी लहराया.

मिसेज टूरिज्म प्रतियोगिता से पहले डॉ तारा रूबरू मिसेज बिहार और इंडिया 2019 की प्रतियोगिता भी जीती थी. इसके बाद उन्हें अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में अपने देश का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिला था. डॉ. तारा स्वेता आर्या पेशे से एक डॉक्टर हैं. बिहार की इस बेटी ने अब तक लगभग 448 नि:संतान दंपतियों को संतान सुख प्रदान कराया किया है.

डॉ तारा स्वेता आर्या ने अपने पति को अपना प्रेरणास्त्रोत बताया. शादी के बाद पति ने ही ऐसे मंचों पर जाने के लिए प्रेरित किया. उनका कहना है कि महिला सशक्तीकरण उनका मुख्य उद्देश्य है.