close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

प्रेमी के लिए मां-बाप के खिलाफ खड़ी हुई युवती, पहचानने तक से किया इंकार

औरंगाबाद में एक बेटी अपने ही माता-पिता के खिलाफ बगावती तेवर अपनाते नजर आई. कोर्ट में पेशी के लिए लाई गई कथित अपहृता ने मां बाप को पहचानने से इंकार कर दिया.

प्रेमी के लिए मां-बाप के खिलाफ खड़ी हुई युवती, पहचानने तक से किया इंकार
अब हर किसी की निगाहें इस मामले में कोर्ट पर टिकी हुई है (फाइल फोटो)

औरंगाबाद: बिहार के औरंगाबाद में एक बेटी अपने ही माता-पिता के खिलाफ बगावती तेवर अपनाते नजर आई. कोर्ट में पेशी के लिए लाई गई कथित अपहृता ने मां बाप को पहचानने से इंकार कर दिया. कोर्ट में अजीब स्थिति तब उत्पन्न हो गई जब लड़की कोर्ट में मां-पिता के खिलाफ जाकर कहा, 'मैं मायके नहीं जाऊंगी और मेरी अर्थी भी ससुराल से ही उठेगी. 

गौरतलब है कि 9 अप्रैल को यह लड़की अचानक रहस्यमय तरीके से गायब हो गई थी जिसके बाद परिजनों ने गांव के ही एक युवक के खिलाफ अपहरण की प्राथमिकी दर्ज कराई थी. पुलिस लड़की का बयान दर्ज कराने के लिए कोर्ट लेकर पहुंची थी लेकिन जैसे ही लड़की के परिजन मिलने के लिए पहुंचे लड़की ने पहचानने से इंकार कर दिया और कहा कि उसका अपहरण नहीं किया गया है बल्कि अपनी मर्जी से प्रेमी के साथ फरार हुई है.

उसने ये भी कहा कि उसने अपने प्रेमी से शादी कर ली है और अब अपने पति के साथ ही जिंदगी बिताना चाहती है.लड़की ने अपने माता पिता पर भी गंभीर आरोप लगाए हैं.  वहीं दूसरी ओर लड़की के परिजन ने उसे नाबालिग बताते हुए कहा कि अपहर्ता प्रेमी के परिजनों के दबाब में आकर इस तरह की बातें कर रही है. लड़की के परिजनों ने पुलिस पर भी मिलीभगत का आरोप लगाया और कहा पुलिस भी उनकी कोई मदद नहीं कर रही है.

लड़की पक्ष के वकील ने भी उसके नाबालिग होने की बात कही. वहीं देव थाने की पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर लड़की को अल्पावास गृह को सुपुर्द कर दिया है. लेकिन लड़की के बगावती तेवर ने कोर्ट के सामने पूरे मामले को पलटकर  रख दिया और अब इस केस पर हर किसी की निगाहें कोर्ट पर टिकी है.