झारखंड: जामताड़ा में ठंड से आलू के फसल को नुकसान को पहुंचा नुकसान, किसान हुए मायूस

झारखंड के जामताड़ा में कुहासा एवं ठंड के कारण खेतों में लगे फसल को भारी नुकसान पहुंचा है. सबसे ज्यादा नुकसान आलू की खड़ी फसल को हुई है. आलू में झुलसा रोग देखने को मिल रहा है.   

झारखंड: जामताड़ा में ठंड से आलू के फसल को नुकसान को पहुंचा नुकसान, किसान हुए मायूस
कुहासा एवं ठंड के कारण खेतों में लगे फसल को भारी नुकसान पहुंचा है.

जामताड़ा: झारखंड के जामताड़ा में कुहासा एवं ठंड के कारण खेतों में लगे फसल को भारी नुकसान पहुंचा है. सबसे ज्यादा नुकसान आलू की खड़ी फसल को हुई है. आलू में झुलसा रोग देखने को मिल रहा है. 

आलू के पत्ते मुरझा रहे हैं जिससे कम पैदावार होने की उम्मीद है. वहीं, सरसों के फसल में भी ठंड और कोहरे का असर पड़ा है. फसल के नुकसान होने से किसान काफी चिंतित हैं. उपज कम होने से किसान की आमदनी भी प्रभावित होगी. 

किसानों का मानना है इस वर्ष तापमान 6 डिग्री तक लुढ़क गया है और अपने जीवन काल में इतना कम तापमान लोगों ने कभी नहीं देखा था. जामताड़ा जिले में टमाटर की खेती बहुतायत में की जाती है. यहां उत्पादित टमाटर अन्य राज्यों में भी भेजा जाता है. 

ठंड और कोहरे के कारण टमाटर से फसल को भी नुकसान पहुंचा है. इसकी वजह से किसान खेतों में लगे टमाटर को तोड़कर कम कीमत में बेचने को मजबूर है. लगातार तापमान के घटने और कुहासे के बने रहने को लेकर कृषि वैज्ञानिक ने किसानों को आलू के खेतों में पटवन की सलाह दी है. सरसों की फसल को लाही कीट से बचाने के लिए कीटनाशक के छिड़काव करने को कहा है.