हाजीपुर में पूर्व मध्य रेलवे ने 11 रेल डिब्बों को आइसोलेशन वार्ड के लिए किया तैयार

फिलहाल 11 रेल डिब्बों को वॉर्ड के रूप में परिवर्तित कर लिया गया है. इसके अलावा भी कई आवश्यक उपकरण की सुविधा मुहैया कराई गई है.

हाजीपुर में पूर्व मध्य रेलवे ने 11 रेल डिब्बों को आइसोलेशन वार्ड के लिए किया तैयार
फिलहाल 11 रेल डिब्बों को वॉर्ड के रूप में परिवर्तित कर लिया गया है

हाजीपुर: कोरोनावायरस जैसी वैश्विक महामारी को फैलने से रोकने के लिए भारत सरकार के स्वास्थ्य देखभाल प्रयासों में अपना योगदान देने के उद्देश्य से पूर्व मध्य रेलवे द्वारा 208 रेल डिब्बों को चिकित्सा उपकरणों से सुसज्जित क्वारंटाइन, आइसोलेशन वार्ड के रूप में बदला जा रहा है. फिलहाल 11 रेल डिब्बों को वॉर्ड के रूप में परिवर्तित कर लिया गया है. इसके अलावा भी कई आवश्यक उपकरण की सुविधा मुहैया कराई गई है.

पूर्व मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने शनिवार को बताया, "पूर्व मध्य रेलवे में 208 डिब्बों को आइसोलेशन वॉर्ड के रूप में परिवर्तित किया जा रहा है. इसमें से 11 रेल डिब्बे तैयार कर लिए गए हैं." उन्होंने कहा कि इसके साथ ही पूर्व मध्य रेलवे कोरोनावायरस बीमारी से लड़ने के लिए आवश्यक उपकरण भी उपलब्ध करा रहे है. इनमें वेंटीलेटर, पीपीई किट, मास्क और सैनिटाइजर शामिल हैं.

कुमार ने बताया कि कोरोना संक्रमित मरीजों के देखभाल हेतु डॉक्टर एवं नसोर्ं के लिए 269 पीपीई किट उपलब्ध कराए गए है,ं जिनमें पंडित दीनदयाल उपाध्याय मंडल में 14, धनबाद मंडल में 35, दानापुर मंडल में 120 तथा केंद्रीय सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, पटना में 100 भेजे गए हैं.

इसके साथ ही गंभीर मरीजों की सुविधा हेतु पूर्व मध्य रेलवे के अस्पतालों में कुल 8 वेंटीलेटर भी उपलब्ध कराए हैं. उन्होंने कहा कि इनके अलावा विभिन्न मंडलों के अस्पतालों में मास्क और सैनिटाइजर भी उपलब्ध कराए गए हैं.

उन्होंने आशा व्यक्त करते हुए कहा कि रेलवे के इन प्रयासों से न केवल कोरोनावायरस से लड़ाई में मजबूती आएगी, बल्कि वायरस से लड़ने के राष्ट्रीय प्रयासों को भी बल मिलेगा .