close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार : जब्त होगी लश्कर आतंकी उमर मदनी की संपत्ति, ED ने मधुबनी में चिपकाया इश्तेहार

मदनी के घर पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने इश्तेहार चिपका दिया है. जल्द ही इसे अंजाम भी दिया जाएगा.

बिहार : जब्त होगी लश्कर आतंकी उमर मदनी की संपत्ति, ED ने मधुबनी में चिपकाया इश्तेहार
मदनी के घर पर ईडी ने चिपकाया इश्तेहार.

मधुबनी : बिहार के मधुबनी स्थित लश्कर-ए-तैयबा आतंकी मोहम्मद उमर मदनी की संपत्ति जब्त करने की तैयारी है. मदनी के घर पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने इश्तेहार चिपका दिया है. जल्द ही इसे अंजाम भी दिया जाएगा. मदनी पर आतंकवादी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप है. लगभग 15 साल पहले उसे दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया गया था.

गिरफ्तारी के कुछ दिनों बाद दिल्ली के ही तीस हजारी कोर्ट ने उसे जमानत दे दी थी. इसके बाद से वह लगातार फरार चल रहा है. नेपाल में छिपे होने की संभावना है.

बासोपट्टी पुलिस की मदद से ईडी की टीम ने बलकटवा गांव स्थित उमर मदनी के घर इश्तेहार चिपकाया है. स्पेशल जज सीबीआई, कोर्ट कम्प्लेक्स नई दिल्ली द्वारा उमर मदनी के खिलाफ वारंट निर्गत है. वारंट के बाद मदनी फरार है. प्रवर्तन निदेशालय क्षेत्रीय कार्यालय पटना से दो सदस्यीय टीम सहायक इंफोर्समेंट पदाधिकारी ललित और चंदन सिंह इश्तेहार लेकर बासोपट्टी पहुंचे.

टीम जब मदनी के घर पहुंची तो बंद मिला. ताला लगा हुआ था. ईडी की टीम ने इश्तेहार चिपका दिया. इससे पहले भी कई बार सीबीआई कोर्ट में हाजिर होने के लिए मदनी के घर इश्तेहार चिपकाया गया है. लेकिन वह अभी तक हाजिर नहीं हुआ.

लाइव टीवी देखें-:

ज्ञात हो कि कुछ ही महीना पहले खुफिया एजेंसियों ने गृह मंत्रालय को भेजे रिपोर्ट में कहा था कि पाकिस्तान के इशारे पर आतंकी गुट लश्कर-ए-तैयबा फैज़ाबाद और गोरखपुर में अपना बेस बना रहा है. साथ ही नेपाल और उत्तर प्रदेश से सटे तराई इलाकों में गतिवधियां बढ़ाने की बात भी कही थी. रिपोर्ट के मुताबिक गोरखपुर और फैज़ाबाद से वो अपने आतंकी संघटन में लोगों को भर्ती करने की साज़िश में लगा हुआ है. इसके लिए मोहम्मद उमर मदनी को अपने नेटवर्क को मजबूत करने की जिम्मेदारी भी दी है

उमर मदनी ने नेपाल के कपिलवस्तु में अपनी सक्रियता बढ़ा दी है. गृह मंत्रालय को मिली रिपोर्ट के मुताबिक उमर मदनी ने इस साल मार्च में कोलकाता भी गया था और पिछले कुछ दिनों में बिहार के दरभंगा कई बार जा चुका है. लश्कर की नजर मदरसा में पढ़ने वाले मुस्लिम युवकों पर है, जिससे वो इन युवकों को बहला फुसलाकर अपने ग्रुप से जोड़ सके.