close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दीवानगी : सेमीफाइनल में टीम इंडिया की हार से फैन को लगा सदमा, हार्ट अटैक से मौत

अशोक को ऐसा सदमा लगा कि उसकी हृदय गति ही रुक गयी. आनन फानन में उसे इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

दीवानगी : सेमीफाइनल में टीम इंडिया की हार से फैन को लगा सदमा, हार्ट अटैक से मौत
भारत की हार को बर्दाश्त नहीं कर पाया एक क्रिकेट फैन.

अमित सिंह/किशनगंज : भारत में क्रिकेट को खेल नहीं धर्म माना जाता है. यहां खिलाड़ियों को उनके प्रशंसक भगवान का दर्जा दे चुके हैं. क्रिकेट और टीम इंडिया के प्रति दीवानगी इस तरह कदर की विपरित परिस्थिति में कई बार मौत तक की खबरें आ जाती हैं. बिहार के किशनगंज में भी कुछ ऐसा ही हुआ है. एक प्रशंसक की टीम इंडिया और क्रिकेट के प्रति दीवानगी इस कदर थी कि वह वर्ल्ड कप के सेमीफाइलन में भारत की हार बार्दाश्त नहीं कर सका.

हार की खबर सुनते ही किशनगंज के अशोक पासवान की हृदय गति रुकने से उसकी मौत हो गई. मृतक की उम्र लगभग 49 वर्ष बतायी जा रही है. मौत के बाद पूरे परिवार में मातम छा गया है. मामला किशनगंज के डुमरिया भट्ठा मोहल्ले का है. मृतक सदर अस्पताल में ड्रेसर के पद पर कार्यरत था.

प्रतिदिन की भांति अस्पताल से छुट्टी के बाद अशोक घर लौटा और टीवी पर सेमीफाइनल में भारत और न्यूजीलैंड का मुकाबला देखने लगा. मैच में भारत की स्थिति काफी कमजोर थी. लेकिन रविंद्र जडेजा और महेंद्र सिंह धोनी ने परिस्थिति को संभाला. यह देख अशोक भी काफी रोमांचित हो उठा. लेकिन दोनों का विकेट गिरने के बाद भारतीय टीम लड़खड़ा गई और वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में हार कर ट्रॉफी के रेस से बाहर हो गई.

अशोक को ऐसा सदमा लगा कि उसकी हृदय गति ही रुक गयी. आनन फानन में उसे इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. परिजनों के अनुसार, ड्यूटी से घर लौटने के बाद टीवी पर क्रिकेट मैच देखने लगा. टीम इंडिया को हारता देखकर वह बेचैन हो उठा. इसी बेचैन के कारण उसे हार्ट अटैक आ गया और उसकी मौत हो गई.

डॉक्टर के मुताबिक, ड्रेसर अशोक ड्यूटी के दौरान कर्तव्य से कभी पीछे नहीं हटता था. सभी कर्मियों के साथ मधुर संबंध थे. उन्होंने बताया कि अशोक क्रिकेट के प्रति काफी लगाव रखता था. खासकर टीम इंडिया का वह बहुत बड़ा फैन था. साथ ही कहा कि परिजन जब उसे अस्पताल लाए तो वह अंतिम सांस ले रहा था. उसने अस्पताल में ही दम तोड़ दिया.