close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सूखे की चपेट में झारखंड, गुमला में किसान ने की आत्महत्या

शिवा खड़िया की आत्महत्या की जानकारी प्रभारी मंत्री सरयू राय को दी गई तो उन्होंने बताया कि जिले के उपायुक्त को जांच कराकर कार्रवाई करने के लिए कहा है.

सूखे की चपेट में झारखंड, गुमला में किसान ने की आत्महत्या
गुमला में किसान ने की आत्महत्या. (फाइल फोटो)

रणधीर/गुमला : झारखंड सूखे की चपेट में है. किसानों की स्थिति दिन-प्रतिदिन खराब होती जा रही रही है. राज्य में बारिश नहीं होने से लगातार किसान आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं. इस वजह से किसानों की आत्महत्या का सिलसिला जारी है. ताजा मामला कृषि प्रधान जिला गुमला का है, जहां 55 वर्षीय शिवा खड़िया ने आत्महत्या कर ली. शिवा के खेत में सूखे से दरार आ गए. जवान बेटी की शादी के लिए उसके पास पैसे नहीं थे. इसी से तंग आकर उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली.

इससे पहले शिवा ने खेती के लिए जमीन को बंधक पर रखा था. उसके बेटे ने गोवा से लौटकर जमीन छुड़ाया. हाल ही में उसने अपने खेत में धान का बिचड़ा डाला था. सूखे के कारण उसने अपनी जीवन लीला ही समाप्त कर ली.

यह घटना गुमला सदर प्रखंड के ढेढोली पोखरा टोली की है. शिवा खड़िया ने घर में रखे धान से खेत में बिचड़ा डाला. खेत में दरार हो जाने और बेटी की शादी की चिंता में उसने आत्महत्या कर ली. शिवा खड़िया के तीन बेटे और तीन बेटियां हैं. दो बेटी की शादी अभी नहीं हुई है. इसकी चिंता उसे लगातार सताने लगी. मृतक के बेटे का कहना है कि घर में खाने का कोई उपाय नहीं रहने के कारण उन्होंने आत्महत्या कर ली.

वहीं, ग्रामीणों का कहना है कि शिवा खड़िया आर्थिक तंगी में था. पहले बेटी और बेटे के शादी के समय खेत को बंधक रखा था. जब बेटे और बेटी गुजरात और गोवा से वापस लौटी तो पूरा पैसा देकर जमीन को बंधक को छुड़ाया. अच्छी बारिश नहीं होने के कारण उसे भुखमरी की चिंता सताने लगी. इसी चिंता में उसने आत्महत्या कर ली.

शिवा खड़िया की आत्महत्या की जानकारी प्रभारी मंत्री सरयू राय को दी गई तो उन्होंने बताया कि जिले के उपायुक्त को जांच कराकर कार्रवाई करने के लिए कहा है.

लाइव टीवी देखें-: