close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झारखंड : झमाझम बारिश से किसानों के चेहरे पर लौटी मुस्कान, धनरोपनी में जुटे अन्नदाता

कोडरमा में मानसून का प्रवेश तो समय से हुआ था, लेकिन बारिश की स्थिति जून महीने में बेहतर नहीं थी.

झारखंड : झमाझम बारिश से किसानों के चेहरे पर लौटी मुस्कान, धनरोपनी में जुटे अन्नदाता
बारिश से किसान खुश.

गजेंद्र, कोडरमा : झारखंड के कोडरमा में बीते तीन दिनों से हो रही लगातार बारिश के बाद धनरोपनी का काम जोर पकड़ लिया है. पहले जुलाई और अब अगस्त महीने में अच्छी बारिश की उम्मीद लिए किसान अपने खेतों में जुट गए हैं. भगवान इंद्र से मेहरबानी बनाये रखने की कामना कर रहे हैं.

जून महीने में जहां औसत से काफी कम बारिश होने से किसान मायूस नजर आ रहे थे वहीं, कोडरमा में जुलाई महीने में अनुमानित बारिश होने से किसान उत्साहित हैं. एकबार फिर अगस्त महीने के पहले सप्ताह में अच्छी बारिश की उम्मीद पर धनरोपनी का काम जोर पकड़ने लगा है. हालांकि समय पर बारिश नहीं होने के कारण बिचड़ा तैयार होने के बावजूद धनपरोपनी में देरी जरूर हुई है, लेकिन किसानों को उम्मीद है कि अगर बारिश होती रही तो इसबार बेहतर पैदावार होगी.

फिलहाल कोडरमा में कई जगहों पर धनरोपनी जोरों पर है. वहीं, कई इलाकों में धान का बिचड़ा पूरी तरह से तैयार हो गया है. अब उसे खेतों में लगाने की प्रक्रिया चल रही है. बेहतर बारिश की उम्मीद लेकर किसान खेतों में जुट गए हैं. वहीं, दूसरी तरफ बारिश के बाद खेतों में पानी लबालब भरा है. किसान अपने पूरे परिवार के साथ खेतों में जुटे हैं. महिला किसान के अनुसार, फिलहाल बारिश की स्थिति तो ठीक नजर आ रही है. लेकिन आगे कैसा रहेगा यह सब कुछ ऊपरवाले पर निर्भर है. अगर अच्छी बारिश जारी रहेगी तो खेती बेहतर होगी.

कोडरमा में मानसून का प्रवेश तो समय से हुआ था, लेकिन बारिश की स्थिति जून महीने में बेहतर नहीं थी. जून महीने में 140 मिलीमीटर वर्षापात की जगह महज 32.3 मिलीमीटर ही हुई थी. हालांकि जुलाई महीने में 245 मिलीमीटर की अपेक्षा में 392 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड किया गया. अगस्त महीने में भी बारिश की अच्छी स्थिति दिख रही है. बहरहाल जिला प्रशासन को उम्मीद है की लक्ष्य के मुताबिक फसलों का उत्पादन हो जाएगा.

लाइव टीवी देखें-: