बिहार: बेमौसम बरसात से किसानों में छाई मायूसी, फसल हुए बरबाद

अरवल जिले में बेमौसम बारिश होने से किसानों के माथे पर चिंता की लकीर खींच गई है. गेहूं के खेतों में जलजमाव हो गया है. वहीं, रबी फसल बर्बादी के कगार पर है.

बिहार: बेमौसम बरसात से किसानों में छाई मायूसी, फसल हुए बरबाद
गेहूं के खेतों में जलजमाव हो गया है.

अरवल: बिहार के अरवल जिले में बेमौसम बारिश होने से किसानों के माथे पर चिंता की लकीर खींच गई है. गेहूं के खेतों में जलजमाव हो गया है. वहीं, रबी फसल बर्बादी के कगार पर है. कई जगह पर गेहूं की फसल को बारिश होने से फायदा मिला है तो कई जगह पर जल जमा होने से किसान परेशान हैं.

सरसों के पौधे में लगे फूल बारिश के कारण झड़ गए हैं जिससे अब उसमें लाही पकड़ने की आशंका है. वही मटर और चना की फसल में फूल झड़ जाने से उस में फल लगने की गुंजाइश खत्म हो चुकी है. किसानों का कहना है कि सबसे ज्यादा नुकसान रवि फसल को ही है जिसमें फूल लग गया था और बारिश के कारण फूल झड़ गया. वहीं, कुछ किसानों का कहना है कि बारिश होने से गेहूं की फसल के लिए तो लाभदायक है लेकिन दलहन और तिलहन फसल नुकसान हो चुकी है.

बारिश के बाद गेहूं फसल में किसान यूरिया का छिड़काव करने के लिए बाजारों से खाद ला रहे हैं. लेकिन साथ में दलहन और तिलहन फसल बर्बाद होने का गम भी किसानों को सता रहा है. बारिश खत्म होने के बाद किसान अपनी फसल को देखने के लिए खेतों को निहार रहे हैं. वहीं कुछ किसान धान खलिहान में रखे थे जिनका धान भी बुरी तरह से भीग चुका है.

वहीं, बेमौसम बारिश के बाद नुकसान को लेकर जिला कृषि पदाधिकारी ने बताया कि सरकार के मापदंडों के अनुसार जिन किसानों को 33 फीसदी से ज्यादा नुकसान हुआ है उन्हीं को नुकसान की भरपाई की जाती है लेकिन जिले में अनुमानित 33 फीसदी से ज्यादा किसी की भी बर्बादी नहीं हुई है.