धनबाद: मरे हुए बेटे के आखिरी दर्शन को तरसा पिता, सरकार से लगाई गुहार

डोमन दिल्ली जाकर विदेश मंत्रालय के अधिकारियों से संपर्क साधने की स्थिति में नहीं है. ऐसे में उन्होंने धनबाद के उपायुक्त अमित कुमार को पत्र लिखकर शव को भारत लाने की फरियाद की है.

धनबाद: मरे हुए बेटे के आखिरी दर्शन को तरसा पिता, सरकार से लगाई गुहार
पिता ने उपायुक्त को पत्र लिखकर शव को भारत लाने की फरियाद की है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

धनबाद: झारखंड के धनबाद के सिंदरी के मनोरहटांड निवासी डोमन महतो परेशान और लाचार हैं. उनके बेटे का शव सऊदी अरब में पड़ा है. अब उनकी अंतिम इच्छा मरे हुए बेटे का मुंह देखना है. लेकिन समस्या यह है कि शव भारत आए तो कैसे आए? 

इसको लेकर डोमन दिल्ली जाकर विदेश मंत्रालय के अधिकारियों से संपर्क साधने की स्थिति में नहीं है. ऐसे में उन्होंने धनबाद के उपायुक्त अमित कुमार को पत्र लिखकर शव को भारत लाने की फरियाद की है. इसके बाद उपायुक्त ने विदेश मंत्रालय से संपर्क साधा है.

दरअसल, डोमन महतो के बेटे जय प्रकाश महतो (33 साल) की 28 दिसंबर 2019 को सऊदी अरब में काम के दौरान पोकलेन मशीन की चपेट में आकर मौत हो गई. इसके बाद शव को पोस्टमार्टम के बाद अल कासिम में रखा गया है. शव को भारत लाने की किसी तरह की पहल नहीं की जा रही है.

बता दें कि पांच महीने पहले जयप्रकाश ने सऊदी अरब के अल कासिम में स्थित एसआईजीए प्रोजेक्ट में बतौर पाइप फीटर के रूप में काम शुरू किया था. यह प्रोजेक्ट सऊदी सर्विस ऑफ इलेक्ट्रो मशीन वर्क कंपनी लिमिटेड के अधीन है. इसी कंपनी में काम के दौरान 28 दिसंबर को एक हादसे में उसकी मृत्यु हो गई.