राज्य में आटे-चावल की कोई कमी नहीं, स्टॉक में है साढ़े 5 लाख मीट्रिक टन- FCI

एफसीआई ने कहा कि हर मिल वाले को मांग के अनुसार ही स्टॉक दिया जाएगा. बिहार सरकार सबको गेहूं उपलब्ध कराएगी और सरकार एफसीआई से सीधे अनाज खरीद सकती है. इसके लिए ऑनलाइन सेवा की शुरुआत भी कर दी गई है. 

राज्य में आटे-चावल की कोई कमी नहीं, स्टॉक में है साढ़े 5 लाख मीट्रिक टन- FCI
FCI ने कहा- राज्य में आटे-चावल की कोई कमी नहीं, स्टॉक में है साढे 5 लाख मीट्रिक टन. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पटना: लॉकडाउन के दौरान खाद्य पदार्थों की कमी को लेकर परेशान रहने वालों के लिए अच्छी खबर है. FCI फुड कॉर्पोरेशन आफ इंडिया ने जानकारी दी है कि राज्य में लॉकडाउन से घबराने की जरूरत नहीं है. राज्य में आटे चावल की कोई कमी नहीं होगी. 

एफसीआई ने कहा कि हर मिल वाले को मांग के अनुसार ही स्टॉक दिया जाएगा. बिहार सरकार सबको गेहूं उपलब्ध कराएगी और सरकार एफसीआई से सीधे अनाज खरीद सकती है. इसके लिए ऑनलाइन सेवा की शुरुआत भी कर दी गई है. 

उपभोक्ता संरक्षण मामले के सचिव पंकज पाल ने जानकारी देते हुए कहा कि मिल मालिक 50 हजार मीट्रिक टन तक गेहूं मंगवा सकते हैं. उनके लिए इतना स्टॉक अलॉट किया गया है. एफसीआई ने जानकारी देते हुए कहा कि राज्य में गेहूं की कोई कमी नहीं है. 

FCI ने कहा कि अभी उनके स्टॉक में तकरीबन साढे 5 लाख मीट्रिक टन खाद्य पदार्थ है. राज्य में हर मिल को सप्लाई करने के लिए इतना स्टॉक काफी है. 

बिहार में कोरोना वायरस को लेकर जारी किए गए लॉकडाउन के बाद लोगों में यह डर घर कर गया है कि आगे खाने-पीने की चीजें बड़ी मुश्किल से उपलब्ध हो पाएंगी. इस बीच एफसीआई की ओर से जारी यह बयान काफी मायनों में लोगों के लिए राहत देने वाला है.