बिहार: खगड़िया के कुछ इलाके फिर आए बाढ़ की चपेट में, लोगों की कम नहीं हो रही मुश्किलें

बाढ़ पीड़ितों को यह उम्मीद जगी थी कि जब नदी के जलस्तर मे कमी आई तो लगा कि बाढ़ से मुक्ति मिलेगी और जिंदगी पटरी पर फिर लौट आएगी.

बिहार: खगड़िया के कुछ इलाके फिर आए बाढ़ की चपेट में, लोगों की कम नहीं हो रही मुश्किलें
खगड़िया के बाढ़ पीड़ितों की मुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रही है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

हितेश, खगड़िया: बिहार (Bihar) के खगड़िया जिले में पिछले दो महीनों से बाढ़ के बीच जिंदगी गुजार रहे बाढ़ पीड़ितों को यह उम्मीद जगी थी कि जब नदी के जलस्तर मे कमी आई तो लगा कि बाढ़ से मुक्ति मिलेगी और जिंदगी पटरी पर फिर लौट आएगी.

लेकिन, खगड़िया के बाढ़ पीड़ितों की मुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रही है. खगड़िया के कुछ इलाकों में एक बार फिर बाढ़ ने दस्तक दे दी है. कोशी और बागमती नदी खतरे के निशान से उपर बहने के कारण हजारों की आबादी दोबारा बाढ़ से प्रभावित हो गई है.

सदर प्रखंड के छमसिया, बोचघसका सहित कई गांव के लोगों का आवागमन का साधन फिर नाव ही बना है. सरकारी नाव नही होने के कारण रुपये देकर आवागमन करना पड़ रहा है. बाढ़ पीड़ितों का दर्द सुनने अब तक कोई नही आया और बिहार में चुनाव का समय भी आ चुका है .

वहीं, बाढ़ पीड़ित नेताओं के झूठे आश्वासन और वादों से काफी नाराज हैं . बाढ़ पीड़ितों का साफ तौर पर कहना है कि एक बार फिर सभी नेता आएंगे और झूठा आश्वासन देकर वोट लेकर चले जाएंगे.