close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झारखंड : 5 लाख किसानों के खाते में 'सम्मान निधि' के तहत भेजे गए 2-2 हजार रुपये

राज्य सरकार के अधिकारियों ने बताया कि ऐसे लगभग पांच लाख किसान आज खुश हैं. उन्हें इस बात का सुकून है कि अब मानसून के आने पर कृषि कार्य हेतु जरूरी संसाधन जुटाने में यह राशि सहायक होगी. 

झारखंड : 5 लाख किसानों के खाते में 'सम्मान निधि' के तहत भेजे गए 2-2 हजार रुपये
किसानों को मिले पैसे. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

रांची : प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत 2 हजार रुपये की सम्मान राशि आज झारखंड के पांच लाख किसानों के खातों में पहुंच गयी. खेलगांव में आयोजित प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना समारोह में मुख्यमंत्री रघुवर दास की उपस्थिति में राज्य के लगभग पांच लाख किसानों को डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (डीबीटी) के माध्यम से राशि दी गई. 

'प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत 2 हजार रुपये की सम्मान राशि आपके खाते में भेज दी गई है. प्रधानमंत्री, नरेंद्र मोदी, भारत सरकार.' अपने मोबाइल में यह संदेश पाकर कांके की जीरा देवी, राजेन्द्र मुंडा और रामदास बेदिया, मंगल उरांव, मालती देवी, हसीमुद्दीन आदि मुख्यमंत्री रघुवर दास को संदेश दिखाकर बड़े उत्साहित नजर आये. 

राज्य सरकार के अधिकारियों ने बताया कि ऐसे लगभग पांच लाख किसान आज खुश हैं. उन्हें इस बात का सुकून है कि अब मानसून के आने पर कृषि कार्य हेतु जरूरी संसाधन जुटाने में यह राशि सहायक होगी. 

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने इस अवसर पर किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र और राज्य सरकार द्वारा किसानों को 2-3 माह में 5000 करोड़ रुपये दिये जायेंगे. ये सारी राशि राज्य की ग्रामीण अर्थव्यवस्था में जायेगी और इसे मजबूत करेगी. किसानों का जीवन भी समृद्धिशाली होगा. उन्होंने कहा, 'आपके चेहरे पर मुस्कान लाना और आपकी आय को दोगुना करने का लक्ष्य लेकर केंद्र और राज्य सरकार कार्य कर रही है.' 

मुख्यमंत्री ने उपस्थित किसानों को बताया कि जिस तरह केंद्र सरकार द्वारा आप सभी को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ दिया गया. उसी प्रकार जुलाई माह में झारखण्ड सरकार किसानों को मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना का लाभ देगी. योजना के तहत 1 से पांच एकड़ भूमि वाले किसानों को न्यूनतम 5 हजार और अधिकतम 25 हजार रुपये का लाभ मिलेगा. इस तरह केंद्र और राज्य सरकार की योजना को सम्मलित करें तो एक किसान को न्यूनतम 11 हजार और अधिकतम 31 हजार रुपये कृषि कार्य हेतु मिलेंगे. 

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों का भूमि रिकॉर्ड नहीं होने की वजह से किसान योजना का लाभ लेने से वंचित हो रहे थे. केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार से आग्रह किया गया. केंद्र में मोदी के नेतृत्व में नयी सरकार के शपथ लेने के बाद सबसे पहली कैबिनेट में ही झारखंड के हित को देखते हुए नियमों में संशोधन किया गया. जिसके बाद वंशावली के आधार पर भी किसानों को इसका लाभ मिल सकेगा.

वहीं केंद्र सरकार ने भी प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के दायरे में देश के सभी वर्ग के किसानों को शामिल किया है. केंद्र सरकार ने पहले 2 हेक्टेयर तक की भूमि के किसानों को योजना का लाभ देने का निर्णय लिया था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अब हर किसान को इस योजना के दायरे में शामिल कर लिया है.