close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मुंगेर: राहत सामग्री नहीं मिलने से आक्रोशित बाढ़ पीड़ितों ने किया हंगामा, पुलिस के साथ हुई हाथापाई

ग्रामीणों ने जिला प्रशाशन पर आरोप लगाया है कि बाढ़ पीड़ितों को राहत सामग्री का वितरण नहीं किया जा रहा है. दरअसल जिले में गंगा खतरे के निशान के ऊपर बह रही है. गंगा के बढ़ने से जिले के छह प्रखंड के 18 पंचायत बाढ़ से प्रभावित हैं.

मुंगेर: राहत सामग्री नहीं मिलने से आक्रोशित बाढ़ पीड़ितों ने किया हंगामा, पुलिस के साथ हुई हाथापाई
बारिश में भी बाढ़ पीड़ित अपनी मांग को लेकर डटे रहे. (फाइल फोटो)

मुंगेर: बिहार के मुंगेर में बाढ़ राहत सामग्री नहीं मिलने से नाराज हवेली खड़गपुर प्रखंड क्षेत्र के बाढ़ पीड़ितों ने बरियारपुर-हवेली खरगपुर मुख्य मार्ग के कृष्णानगर के दशभरा पुल के पास घंटों जाम किया. बारिश में भी बाढ़ पीड़ित अपनी मांग को लेकर डटे रहे. वहीं, जाम हटवाने शामपुर थाना की पुलिस और सीओ के साथ ग्रामीणों की धक्क मुक्की भी हुई. 

ग्रामीणों ने जिला प्रशासन पर आरोप लगाया है कि बाढ़ पीड़ितों को राहत सामग्री का वितरण नहीं किया जा रहा है. दरअसल जिले में गंगा खतरे के निशान के ऊपर बह रही है. गंगा के बढ़ने से जिले के छह प्रखंड के 18 पंचायत बाढ़ से प्रभावित हैं. पिछले तीन दिनों से हो रही लगातार बारिश से सड़क पे रह रहे बाढ़ पीड़ितों का जीना मुश्किल हो गया है. 

 

इसे लेकर आज शामपुर थाना क्षेत्र के तेलियाडीह पंचायत के कृष्णानगर गांव के बाढ़ से ग्रसित ग्रामीणों ने जिला प्रशासन की ओर से अब तक राहत सामग्री उपलब्ध नहीं कराए जाने को लेकर ग्रामीण आक्रोशित हो गए और बरियारपुर-हवेली खरगपुर मुख्य मार्गके बीच दशभरा पुल को को घंटों जाम कर दिया.

वहीं, जाम की सूचना मिलते ही जाम हटवाने मौके पे पहुची शामपुर थाना व हवेली खड़गपुर के अंचलाधिकारी से बाढ़ पीड़ितों के बीच धक्का मुक्की भी हुई. बाढ़ पीड़ित ने गुस्सा में आकर एक पुलिस जवान के साथ हाथापाई भी शुरू कर दी. सीओ ने बाढ़ पीड़ितों को समझा कर जाम हटवाया और राहत सामग्री बांटने की बात की. जिसके बाद ग्रामीणों ने जाम हटाया