close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: बाढ़ पीड़ितों ने पुलिस-सीओ को बनाया बंधक, मुआवजा नहीं मिलने पर किया हंगामा

लखीसराय जिले के पिपरिया प्रखंड के अंचल कार्यालय के बाहर बाढ़ पीड़ितों ने जमकर हंगामा किया. मुआवजा नहीं मिलने पर लोगों ने जमकर हंगामा किया. 

बिहार: बाढ़ पीड़ितों ने पुलिस-सीओ को बनाया बंधक, मुआवजा नहीं मिलने पर किया हंगामा
मुआवजा नहीं मिलने पर लोगों ने जमकर हंगामा किया.

लखीसराय: बिहार में लगभग 15 जिलों में आई बाढ़ ने हाहाकार मचाया. इस बाढ़ में कई लोगों का घर बरबाद हो लेकिन अब बदइंतजामी को लेकर लोगों का गुस्सा प्रशासन के खिलाफ सड़को पर उतर रहा है. लखीसराय जिले के पिपरिया प्रखंड के अंचल कार्यालय के बाहर बाढ़ पीड़ितों ने जमकर हंगामा किया. मुआवजा नहीं मिलने पर लोगों ने जमकर हंगामा किया. 

लोगों ने सरकार और प्रशासन के खिलाफ जमकर हल्ला बोला. पीड़ितों के बीच में से कुछ लोगों ने सीओ के साथ गाली गलौज और अभद्र व्यवहार भी किया.  इस दौरान सीओ सहित पिपरिया के थानेदार और कुछ पार्टी नेताओं को बंधक भी बनाया गया. करीब आधे घंटे तक प्रखंड कार्यालय के मुख्य दरवाजे पर ताला जड़कर सभी को बंधक बनाकर रखा गया. 

ग्रामीणों ने ये आरोप लगाया है कि अब तक उन लोगों को जीआर राशि मुहैया नहीं करायी गई है. दशहरा बीत गया और अब दीपावली और छठ आने वाला है. ग्रामीणों ने ये भी आरोप लगाया कि कुछ लाभुकों का नाम सूची से हटा दिया गया है. 

हालांकि मौके पर पहुंचे जिला परिषद अध्यक्ष राम शंकर शर्मा ने ग्रामीणों को समझा-बुझाकर मामला शांत कराया. उन्होंने कहा कि पीड़ितों को लाभ दिया जाएगा. अभी इसमें एक सप्ताह का समय और लगेगा. 

दूसरी तरफ सीओ का कहना है कि सर्वे में जो लिस्ट तैयार हुई थी. उसी के आधार पर लाभुकों को राशि मुहैया कराई जाएगी. इसमें किसी प्रकार की धांधली की बात नहीं है. यदि कोई व्यक्ति दोबारा नाम दे तो ऑटोमेटिक वैसे लोगों का नाम कट जाएगा. लाभुकों को राशि का भुगतान जिला से किया जा रहा है. 
Anupama Kumari, News Desk