रांची: मिलावटी मिठाई बेचने वालों पर नकेल कसने की तैयारी, जगह-जगह छापेमारी

मौका दिवाली का है तो ऐसे में मिठाइयों का जिक्र लाजमी है. शहर में लाखों रुपए के मिठाइयों का कारोबार होता है. क्योंकि दीवाली के दौरान मिठाई के जरिए खुशियां बांटने का रिवाज है.

रांची: मिलावटी मिठाई बेचने वालों पर नकेल कसने की तैयारी, जगह-जगह छापेमारी
नकली मिठाई के खिलाफ रांची में छापेमारी.

रांची: दीपावली (Deepawali) के नजदीक आते ही नकली मिठाई के कारोबार में इजाफा हो गया है. शहर में बढ़ते नकली मिठाइयों के कारोबार पर नकेल कसने की प्रशासन ने कवायद शुरू कर दी है. एसडीएम ने फूड सेफ्टी ऑफिसर की एक कमेटी तैयार की है, जो लगातार विभिन्न मिठाई दुकानों में जाकर छापेमारी कर रही है.

मौका दिवाली का है तो ऐसे में मिठाइयों का जिक्र लाजमी है. शहर में लाखों रुपए के मिठाइयों का कारोबार होता है. क्योंकि दीवाली के दौरान मिठाई के जरिए खुशियां बांटने का रिवाज है.

स्थानीय लोगों की मानें तो दीयों की रौशनी के बीच मिठाइयों का जायका से रौनक और भी बढ़ जाती है. खुशियां बांटने के लिए मिठाई बांटने की भी परंपरा है. लेकिन लोगों को नकली मिठाइयों से भी डर लगता है. कई दुकानदारों का कहना है कि यही उनका रोजगार है. इसीलिए अपने रोजगार के साथ बईमानी नहीं करेंगे. इसी को ध्यान में रखते हुए सही सामग्रियों का इस्तेमाल किया जाता है.

राजधानी रांची में मिलावटी खाद्य सामग्री पर जिला प्रशासन की कड़ी नजर है. यही वजह है कि सुबह से ही एसडीएम के निर्देश पर शहर के विभिन्न होटलो में छापामारी अभियान चलाकर मिलावटी मिठाई के खिलाफ जांच शूरू की है. दीपावली के दौरान बड़ी संख्या में मिठाइयों की खपत होती है. इस वजह से बाजार में नकली और बेहद घटिया क्वालिटी की मिठाइयां भी उपलब्ध होती है.

इस वजह से दुकानदारों को आगाह किया गया है कि छापेमारी में अगर गड़बड़ी मिली तो कारवाई सख्त होगी. फूड सेफ्टी ऑफिसर की मानें तो जब्त किए गए सैंपल की जांच की जाएगी और रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई होगी.