Breaking News
  • बिहार के लोग इतनी बड़ी आपदा का डटकर मुकाबला कर रहे हैं, इसके लिए बधाई: पीएम मोदी
  • बिहार विधान सभा चुनावी रैली में पीएम मोदी ने भोजपुरी में लोगों को किया प्रणाम
  • कोरोना के इस समय में भी गरीबों को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए एनडीए सरकार ने काम किया: पीएम मोदी

गेहूं के सर्वश्रेष्ठ उत्पादन के लिए बिहार को मिलेगा कृषि कर्मण पुरस्कार

कृषि मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की परिकल्पना और कृषि रोडमैप के क्रियान्वयन से कृषि क्षेत्र में राज्य एक नया मुकाम हासिल करने में सफल रहा है.

गेहूं के सर्वश्रेष्ठ उत्पादन के लिए बिहार को मिलेगा कृषि कर्मण पुरस्कार
बिहार में गेहूं की बंपर पैदावार. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पटना: बिहार को एक बार फिर गेहूं के सर्वश्रेष्ठ उत्पादन के लिए कृषि कर्मण पुरस्कार मिलेगा. भारत सरकार ने बिहार को वर्ष 2017-18 के लिए गेंहू में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए इस पुरस्कार के लिए चयनित किया है. कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार (Prem Kumar) ने कहा, 'यह उपलब्धि राज्य के अन्नदाता किसानों की कड़ी मेहनत, राज्य सरकार की दृढ़ इच्छाशक्ति और केंद्र सरकार के अतुलनीय सहयोग का सार्थक परिणाम है.'

कृषि मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की परिकल्पना और कृषि रोडमैप के क्रियान्वयन से कृषि क्षेत्र में राज्य एक नया मुकाम हासिल करने में सफल रहा है. उन्होंने इस अवसर पर राज्य के किसानों, विभागीय पदाधिकारियों, कृषि वैज्ञानिकों, प्रसारकर्मियों और कृषि कार्य से जुड़े सभी व्यक्तियों को बधाई दी है. साथ ही भारत सरकार के प्रति आभार जताया है.

मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का साल 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य है. इसे पूरा करने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में प्रदेश का कृषि विभाग काम कर रहा है.

केंद्र सरकार की तरफ से देश की अन्न पैदावार बढ़ाने के क्षेत्र में हर साल दिया जाने वाला कृषि कर्मण अवॉर्ड मिलने वाले राज्य को 2 करोड़ रुपए की राशि के साथ-साथ एक स्मृति चिन्ह और ताम्रपत्र दिया जाता है. यह पुरस्कार अनाज पैदावार में बेहतरीन कारगुजारी के साथ-साथ गेहूं, चावल, दालें और मोटे अनाज की पैदावार में अग्रणी रहने वाले सूबों को भी दिया जाता है. 

लाइव टीवी देखें-:

-- Meena Bisht, News Desk