close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: बालिका गृह से फरार 2 लड़कियों का अब तक सुराग नहीं, दो बरामद

 पुलिस भी सभी बिंदुओं को जोड़ने में लगी है. पुलिस के एक अधिकारी ने बुधवार को मीडिया को बताया कि बरामद दो लड़कियों से पूछताछ में यह बात सामने आई है कि सभी लड़कियां रसोई घर के दरवाजे खोलकर दुपट्टा के माध्यम से चाहरदीवारी पर उतरीं और वहां से खेत में कूदकर फरार हुई थीं.

बिहार: बालिका गृह से फरार 2 लड़कियों का अब तक सुराग नहीं, दो बरामद
15 अक्टूबर को ही अदालत के आदेश के बाद आवास गृह पहुंची थीं.

मोतिहारी: बिहार के पूर्वी चंपारण जिला मुख्यालय मोतिहारी के बालिका आवास गृह से फरार चार लड़कियों में से दो का अब तक पता नहीं चल सका है. पुलिस हालांकि इन दोनों लड़कियों की खोज में जुटी है. 

इधर, सूत्रों का कहना है कि लड़कियां शादीशुदा हैं और उनके फरार होने में उनके पति (प्रेमी) की संलिप्तता हो सकती है. पुलिस भी सभी बिंदुओं को जोड़ने में लगी है. पुलिस के एक अधिकारी ने बुधवार को मीडिया को बताया कि बरामद दो लड़कियों से पूछताछ में यह बात सामने आई है कि सभी लड़कियां रसोई घर के दरवाजे खोलकर दुपट्टा के माध्यम से चाहरदीवारी पर उतरीं और वहां से खेत में कूदकर फरार हुई थीं.

बरामद लड़कियों ने पुलिस को बताया कि फरार लड़कियां का यहां मन नहीं लगता था और बराबर ससुराल जाने की बात करती थीं. इधर, आवास गृह की अधीक्षक मधु कुमारी ने बताया कि दोनों लापता (फरार) लड़कियां पश्चिमी चंपारण जिले की रहने वाली हैं और 15 अक्टूबर को ही अदालत के आदेश के बाद आवास गृह पहुंची थीं. 

सूत्रों का कहना है कि दोनों नाबालिग हैं और उन्होंने अपने प्रेमी के साथ भागकर शादी कर ली थी. इसके बाद पुलिस ने लड़कियों को बरामद कर अदालत में पेश किया था. सूत्रों का कहना है कि फरार लड़कियों में से एक लड़की गर्भवती भी है. 

उल्लेखनीय है कि सोमवार को समाज कल्याण विभाग के राज्य बाल संरक्षण समिति द्वारा संचालित इस बालिका गृह की चार लड़कियां फरार हो गई थी. बाद में पुलिस ने दो लड़कियों को बरामद कर लिया था. 

पुलिस के मुताबिक, आवास गृह की अधीक्षक मधु के बयान पर मुफस्सिल थाने में इस मामले की एक प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है. पूर्वी चंपारण के पुलिस अधीक्षक उपेंद्र शर्मा ने बुधवार को बताया कि फरार लड़कियां नाबालिग हैं. उन्होंने कहा कि एक युवक की पहचान की गई है, जिसके बहकावे पर लड़कियां फरार हुई हैं. पुलिस उस युवक को गिरफ्तार करने का प्रयास कर रही है. 

सूत्रों का दावा है कि पुलिस ने जिस युवक की पहचान की है, उसी युवक से फरार एक लड़की ने विवाह किया है. पुलिस पूरे मामले की गहनता से जांच कर रही है. उल्लेखनीय है कि बिहार में बालिका गृहों से लड़कियों के भागने की यह कोई नई घटना नहीं हैं. 

गौरतलब है कि पिछले दिनों मुजफ्फरपुर बालिका गृह में बड़े पैमाने पर लड़कियों के यौन शोषण का मामला भी उजागर हो चुका है. इस कांड का मास्टरमाइंड ब्रजेश ठाकुर फिलहाल जेल में बंद है तथा पूरे मामले की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) कर रही है. (इनपुट: IANS से भी)