बिहार में सत्ता के सरंक्षण में चल रहा अपराध का खेल, JDU नेता पुलिस को दे रहे चुनौती: RJD

रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा कि, बिहार में बढ़ते अपराध के खिलाफ बड़ा आंदोलन शुरू होगा और यह आंदोलन नीतीश कुमार सरकार को हटाने तक चलेगा.

बिहार में सत्ता के सरंक्षण में चल रहा अपराध का खेल, JDU नेता पुलिस को दे रहे चुनौती: RJD
रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा है कि, बिहार में सत्ता के संरक्षण में अपराध का खेल चल रहा है. (फाइल फोटोा

पटना: गोपालगंज मामले पर आरजेडी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह ने बिहार सरकार पर निशाना साधा है. रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा है कि, बिहार में सत्ता के संरक्षण में अपराध का खेल चल रहा है. राज्य में अपराधी बेखौफ हो चुके हैं. उन्होंने कहा कि, गोपालगंज में जेडीयू के नेता पुलिस प्रसाशन को खुली चुनौती दे रहे हैं.

आरजेडी नेता ने कहा कि, बिहार में बढ़ते अपराध के खिलाफ बड़ा आंदोलन शुरू होगा और यह आंदोलन नीतीश कुमार (Nitish Kumar) सरकार को हटाने तक चलेगा. बता दें कि, बिहार में गोपालगंज तिहरे हत्याकांड में सियायत तेज हो गई है. इससे पहले बुधवार को बिहार विधानसभा (Bihar Vidhansabha) में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने राज्यपाल से मुलाकात की थी.

इस दौरान तेजस्वी यादव ने राज्यपाल को ज्ञापन सौंप गोपालगंज हत्याकांड में सीबीआई (CBI) जांच की मांग की. उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य की नीतीश कुमार सरकार जेडीयू (JDU) विधायक पप्पू पांडेय को संरक्षण दे रही है. आरजेडी नेता ने कहा कि, अगर पप्पू पांडेय की गिरफ्तारी नहीं हई तो, वह पार्टी विधायकों के साथ गोपालगंज जाएंगें.

इससे पहले, तेजस्वी यादव ने बुधवार को गोपालगंज में एक ही परिवार के तीन लोगों की हत्या को लेकर बिहार सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने सरकार को आरोपी विधायक की गिरफ्तारी के लिए दो दिनों का समय देते हुए कहा कि, गुरुवार तक आरोपी विधायक की गिरफ्तारी नहीं होती है तो, आरजेडी के सभी विधायक गोपालगंज जाएंगें.

तेजस्वी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर आरोपी जेडीयू विधायक को बचाने का आरोप लगाते हुए कहा, 'हम मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से पूछना चाहते हैं कि, आप यह बताएं कि आपने इस चहेते विधायक पर अभी तक आईपीसी की कोई धारा क्यों नहीं लगवाई और उसकी गिरफ्तारी क्यों नहीं हो सकी है? वो हम को चुनौती दे रहे हैं?'

तेजस्वी ने आगे कहा कि, लॉकडाउन (Lockdown) जनता की जान बचाने के लिए लगाया गया था, लेकिन सत्ताधारी दल के विधायक नरसंहार करवा रहे हैं. आरजेडी नेता ने कहा कि, वह खुद विधायक पर कोई आरोप नहीं लगा रहे हैं. इस हत्याकांड का जो गवाह है और घायल है उसका यह कहना है.

उन्होंने कहा कि आरोपी विधायक खुद प्रेस कॉन्फ्रेंस कर हमें धमकी दे रहे हैं. बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री ने कहा, 'हम लोगों ने दो दिनों का अल्टीमेटम दिया है. सरकार अगर गुरुवार की शाम तक इस मामले में फैसला नहीं लेती है, तो सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का ख्याल रखते हुए हम गोपालगंज आएंगे और जनता के साथ मिलकर आंदोलन करेंगे.'

उन्होंने आगे सवाल उठाते हुए कहा, 'अगर आरोपी विधायक को नीतीश कुमार बचा नहीं रहे तो, पुलिस उसे गिरफ्तार क्यों नहीं कर रही है, जबकि वह खुलेआम प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहा है.' गौरतलब है कि, रविवार की रात रूपनचक गांव में दो बाइक पर सवार अपराधियों ने एक ही परिवार के तीन लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी थी.

इस मामले में कुचायकोट के जेडीयू विधायक अमरेंद्र कुमार पांडेय उर्फ पप्पू पांडेय, विधायक के बड़े भाई सतीश पांडेय व उनके पुत्र मुकेश पांडेय को नामजद आरोपी बनाया गया है. इस मामले में पुलिस ने सतीश पांडेय और मकेश पांडेय को गिरफ्तार कर लिया है.