close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गया के नक्सल प्रभावित इलाकों का डीएम ने किया दौरा, विकास कार्यों की समीक्षा भी की

नक्सलियों के तांडव से पूरा इलाका ग्रस्त था, लेकिन जैसे-जैसे नक्सलियों पर लगाम लगाया और उनके आतंक का सफाया किया गया विकास की गति भी बढ़ती गई. 

गया के नक्सल प्रभावित इलाकों का डीएम ने किया दौरा, विकास कार्यों की समीक्षा भी की
गया के डीएम ने किया नक्सल प्रभावित इलाकों का दौरा. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

जय कुमार/गया : बिहार के गया में नक्सल प्रभावित क्षेत्र में हो रहे विकास कार्यों का जिलाधिकारी ने जायजा लिया. बिहार और केंद्र सरकार की योजनाओं से हो रहे कार्यों से इस इलाके की तस्वीर बदल रही है. इस दौरान डीएम ने जल संचय करने के लिए ग्रामीणों से किये अपील.

बिहार का वो जिला जो कभी लाल इलाके के नाम से देश और दुनिया में जाना जाता था. नक्सलियों के तांडव से पूरा इलाका ग्रस्त था, लेकिन जैसे-जैसे नक्सलियों पर लगाम लगाया और उनके आतंक का सफाया किया गया विकास की गति भी बढ़ती गई. अति नक्सल प्रभावित क्षेत्र इमामगंज विधानसभा देश और दुनिया में एक अलग पहचान बनाने की तरफ बढ़ चुका है.

गया जिला के उत्तरी भाग में अवस्थित सुदूरवर्ती क्षेत्रों में हो रहे कार्यों के जायजा लेने पहुंचे जिलाधिकारी अभिषेक सिंह ने इमामगंज प्रखंड कार्यालय स्थित मनरेगा भवन में पंचायत प्रतिनिधियों और अधिकारियों के साथ बैठक की. इस बैठक में जिलाधिकारी ने जल संचय और विकासकार्यों की समीक्षा की. पंचायत प्रतिनिधियों और अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए.

जिलाधिकारी जवानों के साथ मोटरसाइकिल पर सवार होकर दुर्गम रास्तों से होते हुए पहुंचे. बिहार-झारखंड की सीमा पर स्थित सैलया गांव में हो रहे ताराबारा बांध का औचक निरीक्षण भी किया. इस दौरान संवेदक से बात की और जानकारी ली. बांध को जल्द-से-जल्द पूरा करने का निर्देश दिया. बांध से लौटने के बाद जिलाधिकारी बिकोपुर पंचायत में पौधरोपण किया और लोगों से अधिक से अधिक पौधा लगाने और जल संचय की अपील की.