close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दीपावली के अगले ही सुबह गिरिडीह के इस गांव में छाया मातम, डूबने से 2 बच्ची की मौत

दीपावली के अगले ही दिन बच्चियों की मौत से पूरे गांव में मातम पसरा हुआ है. परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है. 

दीपावली के अगले ही सुबह गिरिडीह के इस गांव में छाया मातम, डूबने से 2 बच्ची की मौत
तालाब में डूबने से बच्ची की मौत. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

गिरिडीह : झारखंड के गिरिडीह में तालाब में डूबने से एक ही परिवार के दो छात्राओं की मौत हो गई. वहीं, डूब रही तीसरी बच्ची को ग्रामीणों ने बचा लिया. घटना देवरी थाना क्षेत्र के नावाबांध गांव की है. बताया जाता है कि दीपावली पूजा के बाद सोमवार की अहले सुबह में गांव में आठ से दस बच्चियां दरिद्र को बाहर करने की रस्म के बाद गांव स्थित नौका आहर में स्नान करने गयी थी. इसी क्रम में तीन छात्राएं तालाब में डूबने लगी.

इस दौरान वहां पर मौजूद अन्य बच्चियों के द्वारा शोर किए जाने पर गांव के लोग मौके पर जुट गए. डूब चुकी बच्चियों को बाहर निकाला, लेकिन तब तक देरी हो चुकी थी. दो छात्रा रामदेव विश्वकर्मा की बेटी गीता कुमारी और चौवा विश्वकर्मा की बेटी पिंकी कुमारी की मौत हो चुकी थी.

वहीं, शिबू राणा की बेटी निशा कुमारी की स्थिति गंभीर बनी हुई थी. निशा को उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया. आशा की स्थिति नाजुक बतायी जा रही है. 

दीपावली के अगले ही दिन बच्चियों की मौत से पूरे गांव में मातम पसरा हुआ है. परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है.