गिरिराज सिंह ने नीतीश से की अपील- बिहार में लव जिहाद के खिलाफ लागू हो कानून

 बिहार के बेगूसराय लोकसभा क्षेत्र के सांसद और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने धार्मिक कार्यों में प्रशासनिक एवं राजनीतिक हस्तक्षेप का विरोध किया है. 

गिरिराज सिंह ने नीतीश से की अपील- बिहार में लव जिहाद के खिलाफ लागू हो कानून
गिरिराज सिंह ने नीतीश कुमार से खास अपील की है.

बेगूसराय: बिहार के बेगूसराय लोकसभा क्षेत्र के सांसद और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने धार्मिक कार्यों में प्रशासनिक एवं राजनीतिक हस्तक्षेप का विरोध किया है. दरअसल, बेगूसराय के सांसद गिरिराज सिंह अपने दो दिवसीय दौरे पर बेगूसराय में हैं जहां वो कई इलाकों में गए. 

हालांकि इस दौरान गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को भी आड़े हाथों लिया और उन्होंने कहा कि सांप्रदायिकता शब्द की शुरुआत वर्ष 1976 में अपने शासनकाल के दौरान इंदिरा गांधी ने ही किया था और वहीं से सामाजिक सौहार्द बिगड़ता चला गया.

गिरिराज सिंह ने कहा कि इससे पहले हिंदू और मुस्लिम मिलजुल कर एक दूसरे के पर्व को हर्षोल्लास से मनाते थे. एक तरफ जहां मुस्लिम समुदाय के पर्व ताजिया के दौरान हिंदू शरीक होते थे तो वही दुर्गा पूजा एवं दुर्गा विसर्जन में मुस्लिम समुदाय के लोग आगे आगे चलते थे. 

वहीं, गिरिराज सिंह ने लव जिहाद के मामले में गिरिराज सिंह ने कहा कि कई राज्यों में इसको लेकर कानून बनाए जा रहे हैं और जरूरत है कि बिहार जैसे राज्य में भी लव जिहाद को लेकर कड़े कानून बनाए जाएं.

साथ ही उन्होंने कहा है कि गिरिराज सिंह ने शनिवार को बिहार में लव जिहाद के खिलाफ एक कानून लागू करने की वकालत की है. गिरिराज सिंह ने कहा, "यह एक बड़ी पहल होगी, यदि बिहार सरकार लव जिहाद के खिलाफ एक कानून लेकर आती है. मैं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से ऐसा करने की अपील करता हूं."

उन्होंने कहा कि लव जिहाद का सांप्रदायिकता से कोई लेना-देना नहीं है. यदि बिहार में एक कानून लागू किया जाएगा तो यह सामाजिक सद्भाव बनाए रखने में मदद करेगा.

सिंह ने कहा, "लव जिहाद न केवल हिंदू समुदाय को प्रभावित कर रहा है, बल्कि हमारे देश में अल्पसंख्यक समुदायों को भी प्रभावित कर रहा है. केरल में, ईसाई बड़ी संख्या में हैं और वे भी चिंतित हैं और इस पर चिंता भी जता चुके हैं. सिरो-मालाबार चर्च के एक बयान में इस ओर इशारा किया गया है कि ईसाई लड़कियों को भी निशाना बनाया जाता है और उन्हें प्रताड़ित किया जाता है."