छपरा: 10 साल की मासूम की गला घोटकर हत्या, परिजनों ने दुष्कर्म की जताई आशंका

अपराधियों ने पहले बालिका का अपहरण किया और फिर उसकी हत्या कर दी. मृतक की पहचान शव मंगल बिन की 10 साल की पुत्री सीमा के रूप में हुई है. 

छपरा: 10 साल की मासूम की गला घोटकर हत्या, परिजनों ने दुष्कर्म की जताई आशंका
अपराधियों ने बालिका का अपहरण करने के बाद गला घोटकर मार दिया. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

छपरा: बिहार के छपरा में रविवार को 10 साल की बालिका की गला घोटकर अज्ञात अपराधियों ने हत्या कर दी. अपराधियों ने हत्या के बाद शव को सोंधि नदी में फेंक दिया. इसके बाद सोमवार को जिगना गांव के पास सोंधी नदी से बालिका का शव बरामद किया गया.

जानकारी के मुताबिक, अपराधियों ने पहले बालिका का अपहरण किया और फिर उसकी हत्या कर दी. मृतक की पहचान शव मंगल बिन की 10 साल की पुत्री सीमा के रूप में हुई है. वहीं, योगी बिन की 10 साल की पुत्री रानी अभी भी लापता है.

परिजनों ने बताया कि रविवार की शाम को छह बच्चियों का अपहरण करने का प्रयास किया गया, लेकिन चार बच्चियां भाग कर अपने घर चली आई. इसके बाद उन बच्चियों ने पूरी बात अपने परिजनों को बताई. साथ ही बच्चियों ने मंगल बिन और योगी बिन को उनके बेटियों के अपहरण के बारे में जानकारी दी.

घटना की जानकारी होने पर परिजनों ने पूरे मामले की सूचना पुलिस को दी, लेकिन लेकिन पुलिस ने रविवार की शाम तक कोई कार्रवाई नहीं की. इसके बाद जब सोमवार सुबह शव बरामद हुआ है तो, पुलिस हरकत में आई. घटना की सूचना पाकर सदर एसडीपीओ अजय कुमार सिंह के अलावा अन्य पुलिस पदाधिकारी मौके पर पहुंच गए. रिविलगंज थाने की पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया है.

परिजनों ने बताया कि आधा दर्जन बच्चियां अपने घर के पास खेल रही थी. इसी दौरान तीन चार युवक उन्हें जलावन की लकड़ी दिलाने के बहाने जिगना बांध की ओर ले जाने लगे. रास्ते में बच्चियों के साथ छेड़खानी शुरू कर दी. लेकिन उसमें से चार बच्चियां किसी तरह अपने को उनके चंगुल से मुक्त करा कर भाग गई. जबकि दो बच्चियों को लेकर अपराधी फरार हो गए. 

सोमवार सुबह शव मिलने के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल गई. फिलहाल पुलिस इस मामले की जांच कर रही है. वहीं, परिजनों मृतक के साथ दुष्कर्म की आशंक जाहिर की है.