कागजी योजनाओं को प्रवासी मजदूरों के लिए खर्च करे सरकार, निकलें सार्थक परिणाम- कांग्रेस

कौकब कादरी ने उदाहरण स्वरूप कहा कि 24000 करोड़ रु का खर्च जल जंगल हरियाली योजना कागजों और आभासी दुनिया में ही ज्यादा है. व्यवहार में इसके लाभ नहीं दिखते. इस योजना में अनियमितताओं की लंबी श्रृंखला है.  

कागजी योजनाओं को प्रवासी मजदूरों के लिए खर्च करे सरकार, निकलें सार्थक परिणाम- कांग्रेस
कागजी योजनाओं को प्रवासी मजदूरों के लिए खर्च करे सरकार, निकलें सार्थक परिणाम- कांग्रेस.

पटना: बिहार प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष कौकब कादरी ने राज्य सरकार के कागजी योजनाओं, गैर जरूरी व्यय को प्रवासी मजदूरों के कल्याण पर खर्च करने की मांग की है. उन्होंने कहा कि आर्थिक अनियमितता से उत्पन्न आर्थिक बदहाली की स्थिति में ऐसे कदम ही सार्थक परिणाम दे सकते हैं.

कौकब कादरी ने उदाहरण स्वरूप कहा कि 24000 करोड़ रु का खर्च जल जंगल हरियाली योजना कागजों और आभासी दुनिया में ही ज्यादा है. व्यवहार में इसके लाभ नहीं दिखते. इस योजना में अनियमितताओं की लंबी श्रृंखला है.
 
उन्होंने कहा कि कागजों पर दौड़ रही इस योजना के बजटीय मद से प्रवासी बिहारी भाईयों के रोजगार व आर्थिक सहायता की व्यवस्था किया जाए तो बिहार लौटे प्रवासी मजदूर गरीब भाईयों का संकट बहुत हद तक संभालना आसान हो जाएगा.

कांग्रेस नेता ने कहा कि कोविड 19 से उत्पन्न महामारी प्रभावित बेरोजगारी व आर्थिक संकट की इस घड़ी में राजनीति से इतर बहुमूल्य सुझावों को स्वीकार कर व्यापक मानवीय हित में ऐसे कदम उठाएं. गरीब मजदूरों का जीवन सुधारें तब आर्थिक बदहाली से बहुत हद तक निपटना सुगम होने लगेगा.