झारखंड में प्लाज्मा डोनेशन बढ़ाने के लिए सरकार की मुहिम, डोनर को मिलेंगे इतने रुपए...

रांची से प्लाज्मा डोनेट करने आने वालों को एक-एक हजार रुपए दिए जाएंगे. जबकि झारखंड के दूसरे जिले से आने वालों को दो-दो हजार रुपए दिए जाएंगे. 

झारखंड में प्लाज्मा डोनेशन बढ़ाने के लिए सरकार की मुहिम, डोनर को मिलेंगे इतने रुपए...
झारखंड में प्लाज्मा डोनेशन बढ़ाने के लिए सरकार की मुहिम, डोनर को मिलेंगे इतने रुपए...

रांची: झारखंड में कोरोना से जूझने के लिए प्लाज्मा डोनेशन की व्यवस्था की गई है. लेकिन सिर्फ 7 स्वस्थ हुए मरीज सेंटर पहुंचकर प्लाज्मा डोनेट कर पाए हैं. इसको देखते हुए राज्य सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है. अब रांची रिम्स की तरफ से प्लाज्मा डोनर के आने जाने के लिए दो हजार रुपए दिए जाएंगे.

रांची से प्लाज्मा डोनेट करने आने वालों को एक-एक हजार रुपए दिए जाएंगे. जबकि झारखंड के दूसरे जिले से आने वालों को दो-दो हजार रुपए दिए जाएंगे. 

यही नहीं अब 28 दिनों की जगह 14 दिन के पहले कोरोना से जंग जीतने वाले लोग भी अपना प्लाज्मा डोनेट कर सकेंगे. प्लाज्मा लेने से पहले डोनर की शारीरिक जांच की जाएगी.

बता दें कि सोमवार तक रिम्स में सिर्फ 8 लोगों ने प्लाज्मा डोनेट किया है. आज दो लोगों के प्लाज्मा डोनेट करने के लिए आने की संभावना है. ऐसे में राज्य सरकार ने इस आंकड़े को बढ़ाने के लिए यह निर्णय लिया है.

प्रशासन की ओर से संपर्क करने के बाद भी ठीक हुए लोग प्लाज्मा डोनेट करने नहीं पहुंच रहे हैं. ऐसे में संक्रमित मरीजों के परिजन प्लाज़्मा के लिए परेशान हो रहे हैं.

लैब इंचार्ज राजीव रंजन की मानें तो कोविड-19 के मरीज के डिस्चार्ज होने के बाद उनका डिटेल्स ब्लड बैंक और अस्पताल प्रबंधन को दे दिया जाता है. इसके बाद उनसे संपर्क किया जाता है कि अगर वह प्लाज्मा डोनेट करने के लिए तैयार हैं तो वह रिम्स के ब्लड बैंक पहुंचे और अपना प्लाज्मा डोनेट कर दूसरे की जान को बचाएं, लेकिन अब तक सिर्फ 10 लोग प्लाज्मा डोनेट करने के लिए पहुंचे.

ऐसे में लगातार प्रशासन लोगों से संपर्क कर रहा है कि लोग अस्पताल तक पहुंचे और अपना प्लाज्मा डोनेट करें, लेकिन लोग डर से फिर दोबारा अस्पताल नहीं आना चाहते हैं. इसलिए प्लाज्मा डोनेट करने वाले मिल नहीं रहे हैं और गंभीर मरीजों को इसका फायदा नहीं मिल पा रहा है.