close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जमशेदपुर : केंदूपत्ता का वीडियो बनाना युवक को पड़ा महंगा, GRP ने मामला दर्ज कर भेजा जेल

स्टेशन पहुंचे तापस की बहन ने बताया कि इस्पात एक्सप्रेस के शौचालय में केंदूपत्ता को रखकर लाया जा रहा था, जिसका वीडियो उनके भाई द्वारा बनाया गया.

जमशेदपुर : केंदूपत्ता का वीडियो बनाना युवक को पड़ा महंगा, GRP ने मामला दर्ज कर भेजा जेल
रेल डीएसपी ने युवक पर लगाया सरकारी काम में बाधा डालने का आरोप.

जमशेदपुर : झारखंड के जमशेदपुर में एक शख्स को आरपीएफ द्वारा जब्त किए जा रहे केंदूपत्ता का वीडियो बनाना महंगा पड़ गया. इस मामले में उसके खिलाफ जीआरपी ने मामला दर्ज कर लिया और तापस नामक युवक को जेल भेज दिया.

युवक को गिरफ्तार किए जाने के बाद भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के कई कार्यकर्ता टाटानगर जीआरपी कार्यालय पहुंचे और विधि सम्मत कार्रवाई किए जाने की मांग की. वहीं, तापस के परिजनों ने झूठे आरोप में फंसाए जाने का आरोप लगाया है.

स्टेशन पहुंचे तापस की बहन ने बताया कि इस्पात एक्सप्रेस के शौचालय में केंदूपत्ता को रखकर लाया जा रहा था, जिसका वीडियो उनके भाई द्वारा बनाया गया. वीडियो को एक कथित आरटीआई कार्यकर्ता को भेज दिया गया.

इस पूरे मामले पर टाटानगर रेल डीएसपी ने बताया कि आरपीएफ की तरफ से इस्पात एक्सप्रेस से जब केंदुपत्ता जब्त किया जा रहा था तो उसका वीडियो तापस गोप द्वारा बनाया जा रहा था. आरपीएफ की तरफ से उन्हें रोका गया तो वे उलझ गए. इसके बाद आरपीएफ के एएसआई ने टाटानगर थाना में सरकारी काम में बाधा डालने का आरोप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज करवाया था.

डीएसपी ने बताया कि जब्त किया गया केंदुपत्ता तकरीबन एक टन से ज्यादा है और इसकी अनुमानित राशि एक लाख 12 हजार रुपये के लगभग है. जीआरपी अब कथित आरटीआई कार्यकर्ता कमेलश पर भी कार्रवाई की तैयारी कर रही है.

वहीं, कमलेश के परिजनों का कहना है कि पुलिस उसे फंसा रही है. साथ ही उनका कहना है कि वह वीडियो रेल मंत्री को ट्वीट करने वाला था. पुलिस ने उसे कुछ और समझकर जेल भेज दिया.