बिहार: बेल पर छूटकर आए गैंगरेप दोषियों ने पीड़िता के घर की तोड़फोड़, केस उठाना का बनाया दबाव

गैंगरेप के दोषियों ने पीड़िता के घर पर खड़ी बाइक को भी क्षतिग्रस्त कर दिया. केस वापस की बात नहीं मानने पर दोषियों ने पीड़िता के घर के साथ-साथ गांव के करीब 10 घरों पर रोड़ेबाजी करते हुए उनके चौखट दरवाजा को भी तोड़ दिया है.

बिहार: बेल पर छूटकर आए गैंगरेप दोषियों ने पीड़िता के घर की तोड़फोड़, केस उठाना का बनाया दबाव
गैंगरेप के दोषियों ने पीड़िता के घर पर खड़ी बाइक को भी क्षतिग्रस्त कर दिया.

आरा: बिहार के भोजपुर (Bhojpur) में उस वक्त जमकर बवाल मचा, जब एक गैंगरेप (Gang rape) मामले में सजा के बाद बेल पर छूटे दोषियों ने पीड़िता के परिजनों पर केस उठाने का दबाव बनाया. जब परिजन नहीं माने तो उनपर जानलेवा हमला करते हुए मारपीट और पथराव की घटना को अंजाम दिया गया. इस दौरान पीड़िता के परिजन बुरी तरह जख्मी हो गए, जिन्हें तत्काल इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

गैंगरेप के दोषियों ने पीड़िता के घर पर खड़ी बाइक को भी क्षतिग्रस्त कर दिया. केस वापस की बात नहीं मानने पर दोषियों ने पीड़िता के घर के साथ-साथ गांव के करीब 10 घरों पर रोड़ेबाजी करते हुए उनके चौखट दरवाजा को भी तोड़ दिया है.

मामले की सूचना मिलते ही घटनास्थल पर कृष्णागढ़ थानाध्यक्ष अशोक कुमार के साथ-साथ कई थाने की पुलिस मौके पर पहुंचकर स्थिति को नियंत्रित करने में लग गई है. आरोप है कि छह लोगों के द्वारा एक युवती के साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया गया था. उस दौरान आरोपियों द्वारा युवती का अश्लील वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल भी किया गया था.

इस घटना के बाद पीड़ित युवती ने कृष्णागढ़ थाना में उक्त बदमाशों के खिलाफ मामला दर्ज कराया था. कोर्ट ने इस मामले में एक आरोपी को आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी. जबकि पांच आरोपी नाबालिग होने का हवाला देकर बेल पर थे. बेल पर बाहर आए पांचों आरोपियों और उनके परिजनों ने पीड़िता के परिवार पर केस वापस लेने का दबाव बनाया. इसके लिए पीड़िता और परिवार के सदस्य राजी नहीं हुए तो उनके साथ आरोपियों द्वारा मारपीट की गई और उनके घर पर जमकर पत्थरबाजी की गई, जिसमें करीब दर्जन भर लोग जख्मी हो गए.

दबंग आरोपियों ने पीड़िता के परिवार पर तो कहर बरपाया ही. साथ ही पीड़िता के अन्य रिश्तेदार जो गांव पर रहते हैं उनके साथ भी मारपीट करते हुए उनके घर भी रोड़ेबाजी की गई. घटना की जानकारी मिलते ही तुरंत कृष्णगढ़ थानाध्यक्ष अशोक कुमार दल-बल के साथ मौके पर पहुंच गये और स्थिति को नियंत्रण करने में लग गए. मामले में कृष्णगढ़ थाना प्रभारी अशोक कुमार ने बताया कि पूर्व में एक लड़की के साथ गैंग रेप की घटना को अंजाम दिया गया था, जहां आज नामजद आरोपियों द्वारा पीड़िता के परिवार पर केस वापस लेने का दबाव बनाया जा रहा था. जब पीड़िता के परिवार के लोग केस वापस नहीं लेने का फैसला लिया तो उनके साथ मारपीट करते हुए उनके घर पथराव की गई है.